विटामिन इंजेक्शन लगने से हुई बच्चों की मौत के बाद जागा प्रशासन

Smart News Team, Last updated: 17/08/2020 08:13 AM IST
  • जनपद कानपुर के सरसौल ब्लाक के अंतर्गत विटामिन इंजेक्शन लगने के बाद दो बच्चों की हुई मौत के बाद पूरी तरह से जिला प्रशासन हिल गया है
प्रतीकात्मक तस्वीर

सरसौल ब्लॉक के रामनगर और पताखेड़ा गांव में दो बच्चों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. परिजनों ने आरोप लगाया कि एएनएम ने बच्चों को विटामिन की खुराक लगाए जाने के संबंध में एक टीका दिया था. टीका लगाए जाने के बाद बच्चे सुस्त पड़ गए और धीरे-धीरे वह और सुस्त होते चले गए. जिससे उन दोनों बच्चों की मौत हो गई. जिसमें एक बच्चे की उम्र करीब तीन माह थी तथा दूसरे की छह माह बताई जाती है.

मौत होने के बाद परिजनों ने हंगामा काटा और इसकी जानकारी पुलिस को दी गई. सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने दोनों बच्चों की शवों को कब्जे में लेते हुए पीएम के लिए भेजा है. इस संबंध में सीएमओ का कहना है कि बच्चों को लगाए गए टीके की जांच कराई जा रही है. जिस बैच के टीके बच्चों को लगे थे उन पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है.

प्रदेश सरकार के निर्देश पर बच्चों को विटामिन ए की खुराक दिलाए जाने के लिए अभियान शुरू किया गया था. रामनगर गांव के गंगाराम के तीन माह के बच्चे को विटामिन ए की खुराक पिलाई गई थी. इसके अलावा पताखेड़ा गांव के बड़े साहू के छह माह के बेटे शिवांशु को भी टीके लगाए गए थे. बताया जाता है कि इस बच्चे के पैदा होने के बाद से कोई भी टीका नहीं लगा था.

परिवार के लोगों का आरोप है कि विटामिन की खुराक देने और टीका लगने के बाद से ही बच्चा सुस्त हो गया और देर रात दोनों ही बच्चों ने दम तोड़ दिया. बच्चों की मौत होने पर दोनों ही परिवारों में कोहराम मच गया और उन्होंने इसकी जानकारी कोतवाली पुलिस को दी. सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल करते हुए उच्चाधिकारियों से इस संबंध में बात की.

वही सीएमओ डॉ अनिल मिश्रा का कहना है कि जो टीके बच्चों को लगाए गए थे उन्हें तत्काल प्रभाव से रोक दिया गया है और यह भी निर्देश दिए गए हैं कि जब तक पूरी जांच रिपोर्ट स्पष्ट न हो जाए तब तक यह टीके किसी भी बच्चे को न लगाए जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें