इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए जम कर खाए जा रहे अंडे-चिकन, एकदम से बढ़े दाम

Smart News Team, Last updated: Sun, 6th Jun 2021, 6:56 PM IST
  • कोरोना के समय में अंडे और चिकन की खपत दोगुनी होने के कारण इनकी कीमतें भी दोगुनी हो गईं है. अंडो का कारोबार करने वाली कंपनियों का कारोबार पिछले एक साल में 100 फीसदी से ज्यादा बढ़ा है. एक अंडा 4 रुपए से बढ़कर 7 रुपए का हो गया तो चिकन 110 रुपए किलो से बढ़कर सीधा 300 तक पहुंच गई है.
अचानक बढ़े अंडे और चिकन के दाम (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कानपुर. कोरोना के समय में अंडे और चिकन की खपत दोगुनी होने के कारण इनकी कीमतें भी दोगुनी हो गईं है. एक अंडा 4 रुपए से बढ़कर 7 रुपए का हो गया तो वहीं चिकन का दाम110 रुपए किलो से बढ़कर सीधा 300 तक पहुंच गया है. कोरोना काल में बहुत जरूरी है कि आपकी इम्यूनिटी काफी स्ट्रॉन्ग हो. कोरोना के कहर से बचने के लिए सभी लोग पौष्टिक आहार और कम पैसों में अधिक प्रोटीन देने वाला भोजन करना पसंद कर रहे हैं. इनमें पहले स्थान पर अंडे और चिकन आते है.

ब्वायलेर फेडरेशन के मुताबिक 2019-20 के दौरान प्रत्येक व्यक्ति ने 87 अंडे खाए थे, जोकि इस साल 100 पार होने की उम्मीद है. कुल उत्पादन का 98 फीसदी अंडे देश में ही खप जाते हैं. अंडो का कारोबार करने वाली कंपनियों का कारोबार पिछले एक साल में 100 फीसदी से ज्यादा बढ़ा है. ऐसा इसलिए है क्योंकि अंडे प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत हैं. उनमें सभी आवश्यक अमीनो एसिड होते हैं इसलिए वे पूर्ण प्रोटीन प्रदान करते हैं. एक कठोर उबले अंडे में 6 ग्राम प्रोटीन होता है जो पुरुषों को अपने दैनिक सेवन का 11 प्रतिशत देता है जबकि महिलाओं को 14 प्रतिशत मिलता है.

UP अनलॉक: अब सिर्फ लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर, सहारनपुर में कोरोना कर्फ्यू

देखा जाए तो कोरोनाकाल से पहले लोग सर्दियों में ज्यादा अंडे खाने पसंद करते थे. लेकिन इस साल सर्दियों से ज्यादा अप्रैल-मई में अंडों की बिक्री हुई. रिपोर्ट्स के मुताबिक इस साल जनवरी से फरवरी तक प्रतिदिन 8 लाख अंडे खाए गए. वहीं अप्रैल-मई में ये संख्या बढ़कर 15 लाख तक पहुंच गई. गर्मियों में अंडो की खपत दोगुनी हो गई. कोरोना के चलते सभी लोग खुद को हस्ट-पुष्ट रखना चाहते है इसलिए जमकर अंडे खाए जा रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें