यूपी चुनाव की ड्यूटी पर था CRPF जवान, घर पर पत्नी की बॉयफ्रेंड ने कर दी हत्या

Komal Sultaniya, Last updated: Sun, 27th Feb 2022, 7:30 PM IST
  • उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में हर कोई अपनी अहम भूमिका निभा रहें हैं. इस बीच कानपुर में इलेक्शन ड्यूटी में सीआरपीएफ जवान भी व्यस्त रहे और पत्नी ने कर डाला कांड. यूपी चुनाव की ड्यूटी पर सीआरपीएफ जवान घर से बाहर था और पत्नी ने पति के पीछे से बॉयफ्रेंड की कर दी हत्या.
यूपी चुनाव की ड्यूटी पर था CRPF जवान, पत्नी की बॉयफ्रेंड ने कर दी हत्या

कानपुर. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में हर कोई अपनी अहम भूमिका निभा रहें हैं. इस बीच  कानपुर जिले के पनकी रतनपुर कॉलोनी से सनसनीखेज का मामला सामने आया है. बता दें कि, पांच दिन पहले लापता हुई सीआरपीएफ जवान की पत्नी की उसके प्रेमी ने गला रेत कर हत्या कर दी. कानपुर देहात के भाऊपुर मैथा के पास स्थित नाले में महिला का शव पड़ा मिला. हालांकि, आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. सीआरपीएफ जवान इंद्रपाल चुनाव ड्यूटी के लिए मैनपुरी गए थे, जबकि उनकी पत्नी 34 वषीर्या गीता देवी घर पर थीं.

जानकारी के मुताबिक, 20 फरवरी को इंद्रपाल ने अपनी पत्नी के मोबाइल फोन पर कॉल किया, लेकिन उसका कोई जवाब नहीं आया. किसी अनहोनी की आशंका होने पर उसने पनकी पुलिस को सूचना दी जो उसके घर पहुंची तो देखा कि पीड़िता घर पर नहीं है. सीआरपीएफ इंदरपाल 21 फरवरी को घर लौटा और थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई. जांच शुरू हुई और जब पुलिस ने महिला के मोबाइल का कॉल डिटेल रिकॉर्ड खंगाला तो उसके फोन पर कानपुर देहात के रूरा जमालपुर इलाके के रहने वाले मुख्तार नाम के एक कार मैकेनिक का आखिरी कॉल आया था.

दरिंदगी की हद: पहले बेटी की हत्या, फिर शव के साथ बुझाई बाप ने हवस की प्यास

जिसके आगे पुलिस ने उससे पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया. मुख्तार ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उसका गीता के साथ प्रेम प्रसंग था. वह इन दिनों परेशान था, क्योंकि गीता किसी और से बात करने लगी थी. मुख्तार उसे ड्राइव के लिए ले गया और गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को नाले में फेंक दिया.

कानपुर: पेड़ के नीचे मिला 7 साल के मासूम का शव, कुकर्म और हत्या की आशंका

वहीं, बताते चलें कि, थाना प्रभारी अंजन कुमार ने भाऊपुर मैथा इलाके में नाले से शव बरामद किया. थाना प्रभारी के अनुसार यह भी पता चला कि कार में मुख्तार के अलावा दो अन्य लोग भी मौजूद थे. उन्होंने कहा कि अब हम दो अन्य सहयोगियों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं जिन्होंने गीता को खत्म करने में मुख्तार की मदद की थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें