FB, इंस्टा पर फोटो लगाती हैं तो अलर्ट रहिए, अश्लील Photo बनाकर ब्लैकमेलर...

Smart News Team, Last updated: Mon, 13th Sep 2021, 5:59 PM IST
  • साइबर अपराधी इन दिनों तेजी से अपने पैर पसार रहे हैं. साइबर अपराधी सोशल मीडिया पर महिलाओं के फोटो को एडिट कर आपत्तिजनक बना देते हैं. पुलिस के पास इस साल कुल 46 ऐसे मामले सामने आए हैं. जिनमें अपराधी ने महिलाओं से अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी देकर पैसे की मांग करते हैं. 
FB, इंस्टा पर फोटो लगाती हैं तो अलर्ट रहिए, अश्लील Photo बनाकर ब्लैकमेलर... (फाइल फोटो)

कानपुर. बढ़ते साइबर क्राइम के बीच अब सोशल मीडिया पर फोटो अपलोड करना भी महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है. साइबर अपराधी सोशल मीडिया पर अपलोड किए गए फोटो का गलत इस्तेमाल कर महिलाओं को ब्लैकमेल कर रहे हैं. इस साल पुलिस के पास कुल 46 ऐसे मामले आए हैं. दर्ज मामलों में महिलाओं ने सोशल मीडिया पर अश्लील फोटो इंटरनेट पर वायरल होने की शिकायत दर्ज कराई है. हालांकि पुलिस ने इनमें से कई मामलों की पड़ताल कर अपराधियों को ट्रेस करके जेल भी भेजा है. फिर भी महिलाओं के खिलाफ इस तरह के साइबर क्राइम नहीं थम रहा है.

इसी साल तीन लड़कियों ने साइबर क्राइम पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराया. उन्होंने ये मुकदमा अश्लील फोटो को फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अपलोड कर के बदनाम करने के आरोप में ये मुकदमा दर्ज कराया है. मुकदमा दर्ज कराने वाली लड़कियों ने बताया कि अपराधी उनकी फोटो और वीडियो को इंटरनेट और सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर पैसे की मांग कर रहे थे. पैसे ना देने पर अपराधियों ने सोशल मीडिया पर फोटो वायरल कर दी. साथ ही अपराधियों ने लड़कियों के नंबर भी सोशल मीडिया पर डाल दिये जिसके बाद कई अनजान नम्बरों से आपत्तिजनक मैसेज और कॉल आने लगे. 

यूपी: फौजी के घर घुसे बदमाशों ने पत्नी और उसके तीन बेटियों पर किया धारदार हथियार से हमला

पुलिस के पड़ताल में 2 मामलों का खुलासा हुआ है. इन दोनों मामले में एक अपराधी रसूलाबाद जबकि दूसरा सुजातगंज का है. पुलिस ने सुजातगंज के एक अपराधी सोएबुद्दीन को गिरफ्तार भी कर चुकी है. इसके अलावा क्राइम ब्रांच ने तीन आरोपित अपराधियों के खिलाफ चार्टशीट भी दाखिल की है. इस मामले पर साइबर थाना के प्रभारी जगदीश यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि महिलाएं फेसबुक, इन्स्टाग्राम और अन्य सोशल मीडिया पर अपनी फोटो, और कई निजी जानकारी जैसे पता, मोबाइल नंबर शेयर कर देतीं हैं. इसी फोटो को अपराधी एडिट कर आपत्तिजनक बना के पैसे की मांग करते हैं और वायरल भी कर देते हैं.

इन घटनाओं से बचने के लिए महिलाओं को सोशल मीडिया पर अपनी निजी जानकारी जैसे पता, मोबाइल नंबर नहीं शेयर करना चाहिए. फेसबुक जैसे सोशल मीडिया में कई प्राइवेसी सिक्योरिटी सेटिंग भी होते हैं. अपनी जानकारी डालते समय प्राइवेसी सेटिंग को ऑन कर देना चाहिए

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें