कानपुर के दीपांकर ने पादप विज्ञान परीक्षा में देश में सातवां स्थान प्राप्त किया

Smart News Team, Last updated: Mon, 9th Nov 2020, 1:15 PM IST
  • चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कानपुर का नाम वर्ष 2020 में कृषि स्नातक से उत्तीर्ण छात्र दीपांकर तिवारी ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली द्वारा आयोजित आईसीएआर -जेआरएफ (पादप विज्ञान) परीक्षा 2020 में देश में सातवां स्थान प्राप्त करके प्रदेश का सम्मान बढ़ाया है.
पादप विज्ञान परीक्षा में पूरे देश में सातवां स्थान प्राप्त करके दीपांकर ने बढ़ाया कानपुर का सम्मान

कानपुर, उत्तर प्रदेश के चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कानपुर का नाम वर्ष 2020 में कृषि स्नातक से उत्तीर्ण छात्र दीपांकर तिवारी ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली द्वारा आयोजित आईसीएआर -जेआरएफ (पादप विज्ञान) परीक्षा 2020 में पूरे देश में सातवां स्थान प्राप्त करके जहां प्रदेश का सम्मान बढ़ाया है.

 तो वही कानपुर व विश्वविद्यालय का भी नाम रोशन किया है जिसको लेकर चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति डॉक्टर डी.आर.सिंह ने छात्र की उपलब्धि पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहां हैै कि दीपांकर तिवारी ने विश्वविद्यालय का नाम पूरे देश में रोशन किया है.जिसके लिए मैं छात्र के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं.उन्होंने बताया कि छात्र दीपांकर तिवारी ने यूपी कैटेट प्रवेश परीक्षा 2016 में 54 वा स्थान प्राप्त कर विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया था.

विवादित जमीन पर दीवार बनाने को लेकर दो पक्षों के बीच पथराव, पुलिस से भिड़ंत, FIR

छात्र ने एनसीसी में बेहतर प्रदर्शन करते हुए बी एवं सी प्रमाण पत्र भी हासिल भी किए था तथा यूपी कैटेट प्रवेश परीक्षा 2020 में प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त किया था।इसके बाद बीएचयू द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा वर्ष 2020 में भी प्रथम स्थान प्राप्त किया था.

क्या बोले मीडिया प्रभारी -

विश्वविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ खलील खान ने विश्वविद्यालय का नाम रोशन करने वाले छात्र दीपांकर तिवारी के बारे में बताया कि छात्र का परिवार काकादेव कानपुर में रहता है तथा पिता श्री देवी प्रसाद तिवारी बीएसएनल से सेवानिवृत्त है जबकि मां श्रीमती अवधेश कुमारी तिवारी ग्रहणी हैं.छात्र दीपांकर तिवारी आईएआरआई नई दिल्ली से पादप प्रजनन विषय से परास्नातक में प्रवेश लेना चाहता है.छात्र ने अपनी सफलता का श्रेय गुरुजन एवं माता पिता को दिया.छात्र ने बताया कि वर्ष 2020 में स्नातक कृषि में उत्तीर्ण किया है तथा विश्वविद्यालय में द्वितीय स्थान प्राप्त किया भविष्य में छात्र सिविल सर्विस में जाना चाहता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें