कानपुर में जीका संक्रमितों की संख्या हुई 89, CM योगी ने दिए सर्विलांस और रैपिड सैंपल टेस्टिंग के आदेश

Indrajeet kumar, Last updated: Mon, 8th Nov 2021, 11:01 AM IST
  • कानपुर में रविवार को 10 नए जीका वायरस के मरीजों की पुष्टि के बाद जीका संक्रमितों की संख्या 89 पहुंच गई है. संक्रमितों में से 3 वायु सेना के कर्मी भी हैं. बढ़ते मामले को देखते हुए सीएम योगी ने चिंता जताया है. साथ ही CMO ने ट्वीट कर सर्विलांस और रैपिड सैंपल टेस्टिंग के आदेश भी दिए हैं.
प्रतीकात्मक फोटो

कानपुर. शहर में रविवार को 10 नए जीका वायरस के मरीजों की पुष्टि हुई है जिसमें 3 वायु सेना के कर्मी भी शामिल हैं. कानपुर में अब कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 89 पहुंच गई है. ये सभी नए मरीज पहले से संक्रमित मरीजों के घर या मुहल्ले से 400 मीटर के दायरे में रहने वाले हैं. लगातार मिल रहे नए मामले को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने स्क्रीनिंग और सैम्पल लेने का अभियान तेज कर दिया है. इससे पहले भी शनिवार को 13 नए मरीजों की पुष्टि हुई थी. सीएमओ डॉ. नेपाल सिंह ने बताया कि कांटैक्ट ट्रेसिंग टीम लगातार पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट बना रही है. इससे पहले 79 पॉजिटिव केस रिपोर्ट किए जा चुके हैं, जिनमें तीन संक्रमित अस्पतालों में आइसोलेट हैं. इस मामले पर डीएम विशाख जी. अय्यर ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निगरानी और वायरस की जांच के लिए घर-घर जाकर सैंपल लेने के आदेश दिए गए हैं.

छह किमी दायरे को जीका ने जकड़ा चकेरी के के ज्यादातर इलाकों में जीका वायरस हवी हो चुका है. फिलहाल ये वायरस जीटी रोड पार कर हाईवे से लगे इलाकों में भी फैल रहा है. इससे पहले जीका संक्रमित मरीज परदेवनपुरवा से तीन किलोमीटर के इलाके में मिल रहे थे. लेकिनब इसका दायरा 6 किलोमीटर से भी ज्यादा हो चुका है. कोयला नगर के बाद हाईवे से लगे भवानी नगर में मरीज मिलने से जीका के कानपुर दक्षिण तक पहुंचने की संभावना जताई जा रही है. इसलिए अब डब्ल्यूएचओ की टीम ने भी  कानपुर दक्षिण में सैम्पलिंग कराने का सुझाव दिया है.

कानपुर में फैले जीका वायरस के बाद प्रयागराज में हाई अलर्ट, बरती जा रही सतर्कता

जीका वायरस के लगातार बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चिंता जताया है. सीएमओ कार्यालय ने ट्वीट करके कहा है कि कानपुर में जीका वायरस से संक्रमण तेजी से फैल रहा है ऐसे में सतर्क रहने की जरूरत है. ट्वीट में ये भी कहा गया है कि डेंगू की टेस्टिंग और तेज की जाए. और बीमार लोगों के इलाज के लिए सभी अस्पताल में इंतजाम किया जाए. इधर डीएम विशाख जी. अय्यर ने नगर निगम के कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को जीका कंट्रोल रूम में बदलने का आदेश दिया है. एसीएम सप्तम दीपक पाल को इस कंट्रोल रूम का अफसर बनाया गया है. डीएम ने शनिवार देर शाम कंट्रोल रूम जाकर समीक्षा किया और कहा कि जीका वायरस के मरीजों को कंट्रोल रूम से दो बार फोन करके हाल जाना जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें