वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने जाना व्यवस्था के हाल

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 11:34 AM IST
  • यूपी के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर कानपुर, झांसी और चित्रकूट मंडल की विभाग के अधिकारियों के साथ विभागीय कार्यों की समीक्षा की. मंत्री ने बिजली के बिल के साथ ट्रांसफार्मर फूंकने पर जमकर नाराजगी जताई. लापरवाही करने पर एफआइआर दर्ज कराने के आदेश दिए.
प्रतीकात्मक तस्वीर

यूपी के कानपुर सहित प्रदेश में ऊर्जा विभाग निगरानी के लिए हर जनपद में 60-60 फीडरों का चयन कर रहा है. सांसद-विधायकों से अपील की है कि वे 10-10 फीडरों की निगरानी खुद करें। अधिकारियों को निर्देश दिए कि सोशल मीडिया, हेल्पलाइन और टेलीफोन पर आने वाली सभी शिकायतों का समय से निस्तारण किया जाए.

वीडियो कांफ्रेंसिंग में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, विधायक महेश त्रिवेदी, अभिजीत सिंह सांगा भी शामिल हुए. औद्योगिक विकास मंत्री ने दहेली सुजानपुर, कल्याणपुर, सनगवां आदि के बाहरी इलाकों में बांस-बल्ली के सहारे हो रही बिजली आपूर्ति का मुद्दा उठाया. ऊर्जा मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बांस-बल्ली हटाकर खंभे लगाए जाएं. उन्होंने कानपुर के इंडस्ट्रियल एरिया के फीडरों की समीक्षा करने के निर्देश भी दिए.

ये भी कहा कि जहां शट डाउन के कारण आपूर्ति प्रभावित हो रही है, वहां अतिरिक्त समय बिजली देकर रोस्टर का पालन करें. ऊर्जा मंत्री ने कहा, सरकार सभी गांवों में 24 घंटे बिजली आपूर्ति का महाअभियान चला रही है. उन्होंने ट्रांसफार्मर फूंकने और समय से न बदले जाने की शिकायतों पर भी नाराजगी जताई. दो बार से ज्यादा ट्रांसफार्मर जलने पर एमडी से जांच कराने के निर्देश दिए।

औद्योगिक मंत्री सतीश महाना ने दक्षिणांचल में दस नलकूपों के लिए धनराशि जमा होने के बाद भी कनेक्शन नहीं होने पर मंत्री ने अधिशासी अधिकारी को बीच में बोलने पर जमकर फटखार लगाई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें