बिना मास्क पहुंचे तो नहीं मिलेगा कॉलेजों में प्रवेश

Smart News Team, Last updated: 19/11/2020 10:25 PM IST
  • कोरोना महामारी के चलते लगभग 8 महीने के बाद डिग्री कॉलेजों को खोलने की तैयारी शुरू हो गई है और 23 नवंबर से कानपुर के डिग्री कॉलेज खुलने भी लगेंगे.लेकिन करोना प्रोटोकॉल के तहत कॉलेजों को खोलने की अनुमति मिली है.जिसके चलते सीएसजेएम यूनिवर्सिटी में कड़े दिशा निर्देश भी जारी किए हैं.
कानपुर में 8 महीने के बाद डिग्री कॉलेजों को खोलने की तैयारी शुरू हो गई है

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर विश्वविद्यालय प्रशासन ने कोरोना प्रोटोकॉल के तहत कॉलेज खोलने की स्वीकृति दे दी है.इसी के साथ उन्होंने स्पष्ट दिशा निर्देश देते हुए कहा है. कि कॉलेज खोलने की स्वीकृति सिर्फ और सिर्फ इन शर्तों पर दी जा रही है, कि कॉलेज प्रबंधन को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्यता पूर्ण कराना होगा साथ ही साथ बिना मास्क के छात्र और छात्राएं कॉलेज परिसर में प्रवेश ना करें. 

कॉलेज के अंदर चलने वाली कक्षाओं में कम से कम छात्र-छात्राओं के बीच 6 फीट की दूरी होनी चाहिए,कक्षा के अंदर सैनिटाइजर की व्यवस्था होनी चाहिए,किसी भी प्रकार से कोई भी कर्मचारी,अध्यापक और छात्र व छात्राएं कॉलेज परिसर के अंदर थूकने पर रोक लगाई जाए और जागरूक करने के लिए जगह जगह पर पोस्टर लगाए जाएं, इसके साथ ही 50 फ़ीसदी छात्र छात्रों को एक दिन में ही बुलाया जाए उससे अधिक ना बुलाया जाए इसके तहत की व्यवस्था की जाए. 

KDA बोर्ड की बैठक के दौरान सीवर लाइन चालू न होने पर पार्षद ने बाहर किया हंगामा

कर्मचारी, अध्यापक से लेकर छात्र व छात्राओं को कॉलेज के अंदर प्रवेश तभी दिया जाए जब उनका टेंपरेचर नाप के उनके टेंपरेचर नॉर्मल होने की पुष्टि कर ली जाए. इन सभी व्यवस्थाओं के साथ ही कॉलेज खोले जाएं और अगर कोई कॉलेज करोना प्रोटोकॉल के तहत कॉलेज नहीं खोलता है तो उस पर कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए गए हैं. तो वही सीएसजेएम विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉक्टर अनिल कुमार यादव ने बताया कि शासन से डिग्री कॉलेज खोलने के दिशा निर्देश मिल चुके हैं. और 23 नवंबर से डिग्री कॉलेज खोले भी जाएंगे लेकिन कोरोना प्रोटोकॉल के तहत ही कॉलेज खोलने की अनुमति दी गई है.जिसको लेकर सभी कॉलेजों को दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें