EPFO ने नियमों में किया बदलाव, बिना मूल डॉक्यूमेंट के पीएफ खाताधारक नहीं कर पायेंगे यह काम

Smart News Team, Last updated: Sun, 14th Feb 2021, 7:50 AM IST
  • ईपीएफओ के केवाईसी के दौरान गड़बड़ी को रोकने के लिए नियमों में बदलाव किया है. अब आप अपने नाम के पहले अक्षर को फुल फार्म में बदल सकते है, लेकिन पूरा नाम बदलने की अनुमति नहीं होगी.
ईपीएफओ ने पीएफ खाताधारकों के नियमों में किया बदलाव.

कानपुर: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( ईपीएफओ ) ने ग्राहको की शिकायत मिलने के बाद पीएफ खातों की सिक्योरिटी को और सख्त कर दी है. अब आप बिना मूल डॉक्यूमेंट के केवाईसी ( नो योर कस्टमर ) में पीएफ खातों में उपभोक्ताओं का ब्योरा नहीं बदला जाएगा. किसी भी बदलाव के लिए विभाग पहले प्रमाण पत्रों का सत्यापन करेगा. उसके बाद ही किसी बदलाव को किया जाएगा. ईपीएफओ ने केवाईसी में बदलाव के साथ ही पीएफ खाते से भुगतान पर रोक लगा दी है. नियोक्ता को भी पीएफ अंशधारकों केवाईसी में मूल पत्रावली पर ही बदलाव की एडवाइजरी जारी की है.

पिछले कुछ दिनों से केवाईसी की आड़ में कुछ खातों से गलत तरीके से रकम को निकालने की शिकायत मिल रही थी. इससे निपटने के लिए विभाग ने नियम को सख्त कर दिया है. कानपुर मुख्यालय के क्षेत्रीय आयुक्त सलिल शंकर ने कहा कि इन मामलों में नए निर्देश जारी हो गए है. साथ ही सूबे के सभी आयुक्तों को एडवाइजरी दी है कि केवाईसी में बदलाव को गंभीरता से लें. नाम, जन्मतिथि, आश्रित, पता, पिता या पति के नाम में बदलाव नियोक्ता भी सभी पत्रावलियां देखने के बाद ही करेंगे. यह नियम ऑन और ऑफलाइन दोनों में मान्य होगा.

महिला की मौत के बाद गुस्साए परिजनों ने बर्रा स्थित हॉस्पिटल ने किया हंगामा,पथराव

समझें क्या है बदलाव

अब आप अपने नाम के पहले अक्षर को फुल फार्म में बदल सकते है, लेकिन केवाईसी के नाम पर पूरा नाम बदलने की अनुमति नहीं होगी. जैसे- आपका नाम ए के शर्मा है, तो आप अपने नाम को अमित कुमार शर्मा कर सकते है. लेकिन अब आप पवन कुमार शर्मा नहीं कर सकते. ऐसा करने की स्थिति में कर्मचारी भविष्य निधि संगठन आपके खातें की जमा धनराशि को रोक सकता है. केवाईसी के बाद धाराधारक की पूरी जानकारी के बाद ही रकम को दिया जाएगा. विभाग ने देश के 4.5 करोड़ खातो और यूपी के 20 लाख खातों को सुरक्षित रखने के लिए यह फैसला किया है.

CM योगी ने किया स्वामित्व योजना का शुभारंभ, जानें कैसे मिलेगी डिजिटल खतौनी

कानपुर में देर रात महसूस किए गए भूकंप के झटके, घरों से बाहर आए लोग

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें