ब्लॉक प्रमुख चुनाव में समर्थन करने पर पूर्व प्रधान का अपहरण, पुलिस बोली मामला संदिग्ध

Smart News Team, Last updated: Sun, 11th Jul 2021, 3:24 PM IST
  • कानपुर में पूर्व प्रधान ने ब्लॉक प्रमुख चुनाव में किसी पार्टी का सर्मथन करने पर विधायक के गनर और उसके कार्यकर्ताओ पर अपहरण करके मारपीट करने का आरोप लगाया है. पूर्व प्रधान ने मामले की शिकायत पुलिस से की है. 
कानपुर में ब्लॉक प्रमुख चुनाव में हस्तक्षेप करने पर पूर्व प्रधान किया गया अपहरण का साथ मारपीट.( सांकेतिक फोटो )

कानपुर: कानपुर में ब्लॉक प्रमुख चुनाव में अपना समर्थन करने पर एक पूर्व ग्राम प्रधान का विधायक के समर्थकों और गनर ने अपहरण कर लिया. पूर्व प्रधान ने मारपीट का आरोप भी लगाया है. घटना कानपुर के नौबस्ता के मछरिया के पास की है. साढ़ के आस्वानगर गांव के पूर्व प्रधान कुलदीप यादव ने पुलिस में अपहरण और मारपीट की शिकायत की है. उन्होंने कहा, कि मुझे और मेरे एक साथी को अगवा करने के बाद आरोपियों ने हमें उन्नाव के एक जंगल में बंधक बनाया कर रखा गया. उन्होंने हमें ब्लॉक प्रमुख चुनाव में हस्तक्षेप न करने की धमकी भी दी है.

आरोपियों के द्वारा छोड़े जाने के बाद पूर्व प्रधान पुलिस के पास पहुंचे, उन्होंने बताया, कि शनिवार की सुबह कुलदीप अपने एक दोस्त पवन के साथ किसी कार्य से नौबस्ता जा रहे थे. ड्राइवर नमन गाड़ी चला रहा था. उन्नाव के नौबस्ता मछरिया मोड़ के पास पीछे से आई एक काले रंग की कार ने उन्हें रोकने का प्रयास किया. पूर्व प्रधान ने आरोप लगाया है कि गाड़ी से निकलने के बाद विधायक के गनर और समर्थकों ने उन्हें अपनी गाड़ी में बैठा लिया. और एक जंगल में ले गए.

कानपुर शहर के फेफड़े का काम करती है मोती झील, अक्सर होती है पर्यटकों की भीड़

पूर्व प्रधान ने कहा, कि आरोपी हमे रामादेवी से होते हुए अजगैन के बगीचे में ले गए. जहां उन्होंने हमें बंधक बनाकर पीटा. पूर्व प्रधान ने बताया, कि आरोपी हमें पीटते हुए ब्लॉक प्रमुख चुनाव में हस्तक्षेप न करने की धमकी दे रहे थे. करीब दो घंटे बाद उन लोगों ने धमकी देकर छोड़ दिया. छूटने के बाद दोनों अजगैन पुलिस थाने पहुंचे और पुलिस को घटना की जानकारी दी. शिकायत में पूर्व प्रधान अपने साथ आपबीती घटना का जिक्र किया. शिकायत के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया. थाना प्रभारी सतीश सिंह ने बताया कि प्राथमिक जांच में मामला संदिग्ध लग रहा है. लेकिन फिर भी पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें