बेटी की हत्या कर फरार था पिता, अगले दिन बाग में फांसी पर लटका मिला शव

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Jul 2021, 5:02 PM IST
कानपुर के कायमगंज कोतवाली क्षेत्र स्थित गांव लहरा रजा कुलीपुर में एक पिता ने अपनी बेटी की चाकू से गोदकर हत्या कर दी. बेटी की प्रेमी से शादी करने की ज़िद से नाखुश पिता ने बेटी को मौत के घाट उतार दिया. प्रेमी से शादी को लेकर लड़की की पिता से अक्सर बहस होती थी.
बेटी की हत्या कर फरार था पिता, अगले दिन बाग में फांसी पर लटका मिला शव

कानपुर : कानपुर के कायमगंज कोतवाली क्षेत्र स्थित गांव लहरा रजा कुलीपुर में एक पिता ने अपनी बेटी की चाकू से गोदकर हत्या कर दी. बेटी की प्रेमी से शादी करने की ज़िद से नाखुश पिता ने बेटी को मौत के घाट उतार दिया. घटना के बाद फरार हुए युवती के पिता का शव अगले दिन बाग में एक पेड़ से लटका मिला. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

दरअसल, कायमगंज कोतवाली क्षेत्र के गांव लहरा रजा कुलीपुर में विनोद कुमार जाटव अपने बच्चों के साथ रहते थे. विनोद की पत्नी की मौत हो चुकी है. वह घर में अपनी 19 साल की बेटी शिवानी और 10 साल के बेटे अंकित के साथ रहता था. विनोद के दो बेटे अंकेश और संजीव बाहर काम करते हैं. सोमवार की सुबह विनोद की शिवानी से बहस हो गई थी, इतने पर शिवानी ने 112 नंबर डायल करके पुलिस को बुला लिया था. पुलिस ने दोनों को समझा-बुझा कर मामले को शांत किया. वहीं स्थानियों का कहना है कि पुलिस के जाने के बाद विनोद ने चाकू गोदकर शिवानी की हत्या कर दी. घटना के बाद वह फरार हो गया. ग्राम प्रधान अतुल यादव की शिकायत के बाद पुलिस ने विनोद के खिलाफ केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरु कर दी. 

कानपुर के युवा एयरफोर्स कर्मी ने की खुदकुशी, चेन्नई एयरफोर्स स्टेशन पर था तैनात

बता दें कि घटना के अगले ही दिन मंगलवार सुबह स्थानियों ने बाग में विनोद के शव को पेड़ पर फांसी के फंदे पर लटका देखा और इसकी सूचना पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस अधिकारियों शव को पेड़ से उतारकर लोगों से पूछताछ करनी शुरु कर दी. प्रभारी निरीक्षक संजय मिश्रा ने घटनास्थल की पड़ताल की. पुलिस पूछताछ में पता चला कि शिवानी की प्रेमी से शादी करने को लेकर पिता से अक्सर बहस होती थी. हत्या के बाद विनोद ने पुलिस को उलझाने के लिए हत्या के मामले का आत्महत्या के शक्ल देने के प्रयास किये. पुलिस को जांच के दौरान शिवानी के हाथों में फंसा चाकू भी मिला था. उसके हाथों और चाकू में खून का कोई निशान नहीं था. जो साफ कर रहा था कि मामले में कोई दूसरा चाकू इस्तेमाल किया गया है. बाद में पुलिस ने दूसरे स्थान से खून से सना चाकू बरामद कर लिया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें