कानपुर पुलिस लाइन में लगी पहली कमिश्नरी अदालत, एसीपी ने की केसों की सुनवाई

Smart News Team, Last updated: Wed, 31st Mar 2021, 8:02 PM IST
  • कानपुर में पुलिस कमिश्नरी प्रणाली लागू की गई है. जिसके बाद यहां पहली अदालत में एसीपी आलोक सिंह मजिस्ट्रेट रहे और उन्होंने विभिन्न थानों की ओर से पेश किए गए मामलों की सुनवाई की.
वकील सुरिंदर सिंह जानकारी देते हुए

कानपुर. कानपुर में पुलिस कमिशनर प्रणाली लागू होने के बाद बुधवार को पहली कमिश्नरी अदालत का आयोजन किया गया. ये पहली अदालत पुलिस लाइन के मीटिंग हाल में शुरू की गई. बुधवार को पहली अदालत में मजिस्ट्रेट बनकर एसीपी अलोक सिंह ने विभिन्न थानों से लाए गए केसो की सुनवाई की. इस अदालत को लगाने के पीछे उद्देश्य यह है कि लोगों के लिए न्यायप्रणाली में पारदर्शिता लाई जाए.

इस दौरान अदालत में विभिन्न थानों से 151 के करीब मामले मारपीट व अन्य वारदातों से संबंधित पेश किए गए. मारपीट के मामलों के मुल्जिमों को भी कचहरी की जगह पुलिस अदालत में पेश किया गया. अभी तक कचहरी की अदालतों में अपने मुवक्किल की पैरवी करने वाले वकील भी अपने केसों की पैरवी के लिए इस अदालत में पेश हुए.

कानपुर में खाली प्लाट में महिला का शव मिलने से सनसनी

वकीलों का कहना था कानपुर में पहली बार पुलिस कमिश्नर की अदालत शुरू हुई है. वकीलों का कहना था कि पहले दिन हम लोग इस अदालत में पैरवी को आए हैं. कचहरी में हम लोगों को आसानी थी, इसलिए यहां आने में कुछ परेशानी तो है. अब आगे देखते हैं क्या होता है. वकील सुरिंदर सिंह ने कहा कि धीरे-धीरे इन अदालतों की लोकप्रियता बढ़ सकती है. पुलिस कमिश्नर प्रणाली का यह अच्छा प्रयास है. वकीलों की ओर से इस प्रयास को आगे जारी रखने के पक्ष लिया जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें