प्लॉट रजिस्ट्री के नौ मिनट में ही धोखा, 3 साल से न्याय के लिए भटक रही विधवा

Smart News Team, Last updated: Tue, 8th Jun 2021, 9:43 AM IST
  • कानपुर में एक महिला ने अपने प्लॉट की रजिस्ट्री कराई लेकिन नौ मिनट के अंदर ही उसके साथ धोखाधड़ी हो गई. विधवा महिला तीन साल से न्याय के लिए भटकती रही लेकिन उसकी सुनवाई ही नहीं हुई. 
कानपुर में विधवा महिला के साथ धोखाधड़ी.

कानपुर. कानपुर में एक विधवा महिला के साथ शातिर बदमाश ने धोखाधड़ी कर दी. महिला अपने प्लॉट की रजिस्ट्री कराने आई थी लेकिन 9 मिनट के अंदर ही उसको ठग लिया गया. आवास विकास के बाबू की मिलीभगत से एक शातिर ने महिला का प्लॉट हड़प लिया. महिला अपने साथ हुए इस धोखे की शिकायत लिए तीन साल से दर-दर भटक रही है लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई. अब डीसीपी पश्चिम संजीव त्यागी के आदेश के बाद कल्याणपुर पुलिस ने आवास विकास बाबू इंद्र कुमार तिवारी, शुभम द्विवेदी, अमित कक्कड़ और विकास साहू के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है.

दरअसल, आवास-विकास कल्याणपुर के अंबेकरपुरम में 60 वर्ग गज का प्लॉट कई साल पहले बिधनू के जामू गांव के रहने वाले सावित्री खरे के पति के नाम अलॉट हुआ था. पति की मौत के बाद भी सावित्री जैसे-तैसे करके प्लॉट की किश्तें चुकाती रही. वहीं जब वह 26 मई 2018 के दिन अपने पहचानने वाले पनकी के गंगागज के रहने वाले शुभम द्विवेदी के साथ प्लॉट रजिस्ट्री कराने गई तो उसके साथ बड़ा धोखा कर दिया गया.  

प्रेमी दारोगा का शादी से इंकार, घंटों चली पंचायत में नहीं बनी बात फिर... 

महिला का कहना है कि प्लॉट रजिस्ट्री के नौ मिनट के अंदर ही शुभव और उसके साथियों ने मिलकर उससे कुछ कागजों पर अंगूठा लगवा लिया. कई महीने बाद महिला को पता लगा कि प्लॉट की मालिक वो नहीं बल्कि शुभम बन गया है. तब जाकर उसको अपने साथ हुई धोखाधड़ी का अहसास हुआ. शुभम ने दस्तावेज तैयार कर महिला का अंगूठा लगवा लिया जिससे प्लॉट के कागज उसके नाम हो गए थे. महिला ने डीसीपी को बताया कि वह कम पढ़ी-लिखी है इसके लिए उसने शुभम से मदद ली थी लेकिन उसे पता नहीं था कि उसकी पहचान का आदमी ही धोखेबाज निकलेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें