कन्या सुमंगला योजना में चल रहा है फर्जीवाड़ा ! 1043 आवेदनों की हुई जांच

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Jul 2021, 1:21 PM IST
  • कानपुर में कन्या सुमंगला योजना के आवेदनों की जांच कराई जा रही है. योजना का लाभ दो बच्चों के परिवार को दिया जाता है. रावतपुर गांव की रहने वाली दीपिका ने डिलीवरी से पहले ही कन्या सुमंगला योजना में आवेदन कर दिया है. जबकि कर्नलगंज के रामकिशन ने तीन बच्चे होने के बाद भी आवेदन किया है.
कानपुर में कन्या सुमंगला योजना में फर्जीवाड़ा.( सांकेतिक फोटो )

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में कन्या सुमंगला योजना के आवेदनों की जांच कराई जा रही है. योजना के लाभ के लिए फर्जीवाड़े कर रहे लोगों की पहचान के लिए ये जांच की जा रही है. दरअसल, कानपुर के रावतपुर गांव की रहने वाली दीपिका दूसरी बार गर्भवती हैं, इससे पहले उनका एक बेटा भी है. दीपिका ने डीलिवरी से पहले ही कन्या सुमंगला योजना के तहत आवेदन कर दिया है और लेखपाल ने भी आवेदन योग्य होने की रिपोर्ट लगाई है.

वहीं कर्नलगंज में भी ऐसा ही मामला सामने आया है. कर्नलगंज के रामकिशन के तीन बच्चे होते हुए भी रामकिशन ने कन्या सुमंगला योजना के लाभ के लिए आवेदन दिया है.वहीं लेखपाल ने इस आवेदन को भी पात्र घोषित कर दिया है. आपको बता दें कि इस योजना का लाभ दो बच्चों वाले परिवार को ही मिलता है. इस तरह के आवेदन योजना में हो रहे फर्जीवाड़े को उजागर कर रहे हैं. गौरतलब है कि इससे पहले कानपुर में शादी अनुदान और पारिवारिक लाभ योजनाओं में बड़े स्तर पर फर्जीवाड़ा पकड़ा जा चुका है. इस फर्जीवाड़े में 6 अफसर और 20 लेखपाल सस्पेंड हुए थे.

UP Board 10th 12th result 2021: इसी हफ्ते यूपी बोर्ड के नतीजे हो सकते हैं घोषित

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में कन्या सुमंगला योजना के आवेदनों की जांच कराई जा रही है. योजना के लाभ के लिए फर्जीवाड़े कर रहे लोगों की पहचान के लिए ये जांच की जा रही है. दरअसल, कानपुर के रावतपुर गांव की रहने वाली दीपिका दूसरी बार गर्भवती हैं, इससे पहले उनका एक बेटा भी है. दीपिका ने डीलिवरी से पहले ही कन्या सुमंगला योजना के तहत आवेदन कर दिया है और लेखपाल ने भी आवेदन योग्य होने की रिपोर्ट लगाई है.

वहीं कर्नलगंज में भी ऐसा ही मामला सामने आया है. कर्नलगंज के रामकिशन के तीन बच्चे होते हुए भी रामकिशन ने कन्या सुमंगला योजना के लाभ के लिए आवेदन दिया है.वहीं लेखपाल ने इस आवेदन को भी पात्र घोषित कर दिया है. आपको बता दें कि इस योजना का लाभ दो बच्चों वाले परिवार को ही मिलता है. इस तरह के आवेदन योजना में हो रहे फर्जीवाड़े को उजागर कर रहे हैं. गौरतलब है कि इससे पहले कानपुर में शादी अनुदान और पारिवारिक लाभ योजनाओं में बड़े स्तर पर फर्जीवाड़ा पकड़ा जा चुका है. इस फर्जीवाड़े में 6 अफसर और 20 लेखपाल सस्पेंड हुए थे.

UP Board 10th 12th result 2021: इसी हफ्ते यूपी बोर्ड के नतीजे हो सकते हैं घोषित|#+|

योजनाओं में बढ़ते फर्जीवाड़े को रोकने के उद्देश्य से दो रैंडम आवेदनों की जांच की कराई गई थी. इनके फर्जी निकलने पर अब कन्य सुमंगला योजना के 1043 आवेदनों की जांच की गई तो उनमें 20 आवेदन फर्जी निकले. आवेदनों का सत्यापन शहरों में लेखपाल और ग्रामीण इलाके में ग्राम पंचायत और ग्राम विकास अधिकारी करते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें