टेलीफोन कॉल के जरिए करोड़ों की हेरा-फेरी, खुफिया विभाग ने किया गिरोह का भंडाफोड़

Smart News Team, Last updated: Wed, 11th Nov 2020, 5:02 PM IST
  • अब फिल्मों में ही नहीं चोरी देखी होगी जिन्हें सच में देखा जा रहा है. कुछ ऐसा ही मामले को शहर की खुफिया टीम ने सामने लाते हुए करोड़ो की हेरफेर को पकड़ा है.
टेलीफोन कॉल के जरिए करोड़ो के रूपये की हेरा फेरी को पुलिस ने पकड़ा

वीआईपी नेटर्वक से समानांतर टेलीफोन एक्सचेंज चलाने के मामले में शहर की खुफिया इकाई को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. इकाई को विदेशी कॉल कराने के मामले में चार कॉल ऐसी भी मिली है जिन्हें सुनने के बाद उन्हें 85 करोड़ के ट्रांसजेक्शन के बारे में पता चला है. इसमें खास बात तो यह है कि जिस फर्म के नाम से ट्रांसजेक्शन हुए है वो अस्तित्व में ही नहीं है. खुफिया विभाग अब उन नामों की तालाश में है जिनके नाम पर ये ट्रांजेक्शन हुए.

वाइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल की मदद से विदेशों में कॉल करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ इसी इकाई ने किया था. रेलबाजार पुलिस ने इसी क्रम में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया और उनके पास से 151 सिम कार्ड बरामद किए हैं. इसमें स्थानीय पुलिस का रोल ना के बराबर है जबकि खुफिया इकाई सभी तथ्यों को तेजी से खंगाल रहा है.

IIT इंदौर ने वेबसाइट हैक करके किया भारत का नाम रोशन, विश्व में पाया 8वां स्थान

खुफिया विभाग के सूत्रों की मानें तो इस मामले में चार फोन कॉल्स के बारे में जानकारी मिली है. जिससे सुनने के बाद 85 करोड़ के लेनदेन के बारे में पता चला है. उन कंपनी के बारे में सघन जानकारी इकट्ठा की जा रही है जिनके जरिए इतना बड़ा खेल हुआ. सूत्रों के मुताबिक, जो फोन कॉल हुए हैं वह लखनऊ, कानपुर और हैदराबाद से रिसीव किए गए हैं. इसके साथ ही खुफिया विभाग ये फोन किसके द्वारा और किसे किए गए इन्हें खंगाल रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें