बिकरू कांड: सात पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू, बर्खास्तगी और डिमोशन का डर

Smart News Team, Last updated: Wed, 4th Aug 2021, 9:28 PM IST
  • बिकरू कांड (गैंगस्टर विकास दुबे) में वृहद दंड के तहत दोषी पाए गए पुलिसकर्मियों पर होने वाली विभागीय का काम एसपी साउथ दीपक भूकर को दिया गया है. वृहद दंड के तहत पुलिसकर्मी को वेतमान, पद पर डिमोशन के अलावा बर्खास्तगी तक का प्रावधान है.
विकास दुबे 

कानपुर. कानपुर के बिकरू कांड में वृहद दंड के तहत दोषी पाए गए पुलिसकर्मियों पर होने वाली विभागीय कार्रवाई का काम एसपी साउथ दीपक भूकर को सौंपा गया है. सात पुलिस वालों में से चार के बयान दर्ज हो चुके हैं. एसपी साउथ कोर्ट की अनुमति लेने के बाद जेल में बंद पूर्व चौबेपुर एसओ विनय तिवारी और दरोगा केके शर्मा के भी बयान लेंगे. इनके अलावा अन्य पांच पुलिसकर्मियों के नाम है- विश्वनाथ मिश्रा, कुंवर पाल सिंह, अजहर इशरत, सिपाही राजीव और अभिषेक है. 

वृहद दंड के तहत पुलिसकर्मी को वेतमान, पद पर डिमोशन के अलावा बर्खास्तगी तक का प्रावधान है. पुलिसकर्मियों के खिलाफ जिस तरीके के आरोप और उससे जुड़े हुए सबूत होंगे. उसी अनुसार कार्रवाई की जाएगी.  

एसपी साउथ भूकर ने कहा कि पुलिसकर्मियों को आरोप पत्र दे दिए गए हैं. सभी के बयान दर्ज होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. बता दें कि एसआईटी ने 51 पुलिसकर्मियों को दोषी ठहराया है. जिसमें से कि 11 सीओ की जांच एसपी पश्चिम और 23 अन्य पुलिस वालों एसपी पूर्वी कर रहे हैं. कई अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ लघु दंड (वेतन रोकना) के तहत विभागीय कार्रवाई डीआईजी कर रहे हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें