कानपुर:GSVM मेडिकल कॉलेज प्रोफेसर डाॅ शालिनी का इस्तीफा, उपचुनाव लड़ने की तैयारी

Smart News Team, Last updated: 02/10/2020 07:49 AM IST
कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज की नेत्र रोग विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डाॅ. शालिनी मोहन ने इस्तीफा दे दिया है. मिल‌ रही जानकारी के अनुसार वह मल्हनी विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ने की तैयारी में है. प्राचार्य प्रोफेसर आरबी ने उनका इस्तीफा प्रशासन को स्वीकृती के लिए भेज दिया गया है.
जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज

कानपुर. कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज की नेत्र रोग विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डाॅ. शालिनी मोहन ने इस्तीफा दे दिया है. जानकारी के अनुसार वह जौनपुर की मल्हनी विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ने की तैयारी में है.  

कॉलेज की प्राचार्य ने उनका इस्तीफा शासन को भेज दिया है. जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज (गणेश शंकर विद्यार्थी स्मारक चिकित्सा विश्वविद्यालय) के नेत्र रोग विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. शालिनी मोहन आई बैंक की भी प्रभारी थी . यह नेत्र रोग विभाग में ग्लूकोमा स्पेशलिस्ट थी और इन्हें कॉर्निया ट्रांसप्लांट के लिए भी जाना जाता था. यह ट्रांसप्लांट लोगों का ब्लाइंडनेस दूर करने के लिए किया जाता है.

CSJMU कुलपति का टारगेट-'विद्यादान माह' में इस हफ्ते 400 लेक्चर अपलोड करें शिक्षक

डॉ. शालिनी का कहना है कि उनके शुभचिंतकों ने उन्हें राजनीति में आने की सलाह दी है. इसको देखते हुए उन्होंने चुनाव लडने का फैसला किया है. किस पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़ेगी यह नहीं बताया. कहा जा रहा कि वह भाजपा के टिकट से चुनाव लड़ने की इच्छुक हैं. उन्होंने यह भी कहा कि अभी उनका इस्तीफा मंजूर नहीं हुआ है.  इसलिए वह अभी इस पर कुछ कहने की स्थिति में नहीं है. 

कानपुरः ऑनलाइन क्लासेज पर UPTTI का कड़ा रूख, बोले- बिना एग्जाम के नहीं किया जाएगा पास

डॉ. शालिनी ने बताया कि उन्होंने  विभागाध्यक्ष के माध्यम से अपना त्यागपत्र प्राचार्य प्रोफेसर आरबी कमल को भेजा है.  प्रोफेसर आरबी के मुताबिक उनका इस्तीफा उन्होंने प्रशासन को भेज दिया है. बता दें कि इससे पहले भी एक बार डाॅ. शालिनी मोहन ने विभागअध्यक्ष से मतभेदों के कारण इस्तीफा दे दिया था. फिर उन्होंने सीनियर फैकल्टी के मनाने पर यह त्यागपत्र वापस ले लिया था.  बताया जा रहा कि अभी भी विभाग में सब कुछ सही नहीं चल रहा. जानकारी के लिए बता दें कि समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री और विधायक पारसनाथ यादव के निधन से खाली हुई मल्हनी विधानसभा सीट पर तीन नवंबर को मतदान और दस नवंबर को मतों की गिनती होनी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें