देशभर के संस्थानों से मिलकर कानपुर का ये मेडिकल कॉलेज करेगा दिल-दिमाग पर रिसर्च

Smart News Team, Last updated: Wed, 27th Jan 2021, 10:32 AM IST
  • दिल और दिमाग की जटिलटाओं को समझने के लिए कानपुर के गणेश शंकर विद्यार्थी स्मारकर मेडिकल कॉलेज ने शोध और अध्ययन को बढ़ावा देने का फैसला लिया है. जिसमें वह देशभर के चुनिंदा मेडिकल संस्थानों के साथ मिलकर काम करेंगे.
कानपुर का ये मेडिकल कॉलेज करेगा दिल और दिमाग पर रिसर्च

कानपुर. दिल और दिमाग को बेहतर तरीके से समझने के लिए गणेश शंकर विद्यार्थी स्मारक मेडिकल कॉलेज शोध और अध्ययन को बढ़ावा देगा. यह मेडिकल कॉलेज दिल और दिमाग से जुड़े शोध के लिए देशभर के बड़े संस्थानों के साथ मिलकर काम करेगा जिससे मल्टी डिस्प्लेनरी यूनिट यानि एमआरयू के माध्यम से लोगों के हित में काम किया जा सके.

केंद्र सरकार की मदद से मेडिकल कॉलेज में एमआरयू की स्थापना की गई है. दिल और दिमाग से जुड़े रिसर्च प्रस्ताव के बाद लैब्स में न्यूरोलॉजी, न्यूरो सर्जरी, कार्डियोलॉजी, कार्डियो वैस्कुलर थोरेसिक सर्जरी और कार्डियक एनस्थीसिया डिपार्टमेंट में फैकल्टी, सीनियर रेजीडेंट और जूनियर रेजीडेंट के ऑफर आने लगे हैं. इसी के साथ मेडिसिन और चाइल्ड स्पेशलिस्ट डिपार्टमेंट में जन्मजात बीमारियों, लिवर किडनी और जेनेटिक बीमारियों, ट्यूमर और कैंसर जैसी बीमारियों पर भी रिसर्च करने के प्रस्ताव आए हैं. 

कानपुर: पुलिस ने होटल से 10 प्रेमी जोड़ों को पकड़ा, होटल मैनेजर गिरफ्तार

रिसर्च के अलग-अलग प्रस्तावों को देखते हुए प्राचार्य प्रो.आरबी कमल ने देश के कई संस्थानों के साथ मिलकर काम करने का फैसला किया है. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान( एम्स दिल्ली), ब्रेन रिसर्च इंस्टीट्यूट मानेसर गुरुग्राम, बेंगलुरु के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल एंड न्यूरो साइंस, नई दिल्ली के इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बिलिअरी साइंसेज( आईबीएलएस) और आइआइटी से हाथ मिलाने के लिए लैटर लिखा है. 

कानपुर: सपा की ट्रैक्टर रैली को पुलिस ने रोका, SP महिला प्रदेश सचिव BJP पर बरसीं 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें