कानपुर IIT अस्सिटेंट रजिस्ट्रार ने लगाई फांसी, बेटे को कोरोना होने से थे परेशान

Smart News Team, Last updated: Tue, 11th May 2021, 3:49 PM IST
  • आईआईटी कानपुर के असिस्टेंट रजिस्ट्रार सुरजीत दास ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी है. छोटे बेटे की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने से वो डिप्रेशन में थे. काफी परेशान चल रहे थे. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.
कानपुर आईआईटी के सहायक रजिस्ट्रार सुरजीत दास ने फांसी लगाकर अपनी जान दी.

कानपुर. कोरोना के संकट के बीच कानपुर आईआईटी के असिस्टेंट रजिस्ट्रार ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी है. मिली जानकारी के अनुसार, छोटे बेटे की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. जिसके बाद से असिस्टेंट रजिस्ट्रार सुरजीत दास काफी परेशान थे और सो भी नहीं पा रहे थे. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

असम के रहने वाले 40 वर्षीय सुरजीत दास आईआईटी कानपुर में सहायक रजिस्ट्रार की नौकरी कर रहे थे. वे अपनी पत्नी बुलबुल दास, बड़ा बेटा शोभित और छोटे बेटे सुमयोजित के साथ रह रहे थे. मिली जानकारी के अनुसार, सुरजीत दास पहले से डिप्रेशन के शिकार थे. 2011 से दिल्ली के डॉक्टर से उनका इलाज चल रहा था.

कानपुर में खुले शराब के ठेके, शौकीनों ने उड़ाई कोविड गाइडलाइन की धज्जियां

मृतक सुरजीत दास की पत्नी बुलबुल ने बताया कि छोटे बेटे सुमयोजित को बुखार आ रहा था. जिसके बाद उसकी कोरोना जांच कराई गई. 5 मई को छोटे बेटे की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई. आईआईटी ने उनके घर के पास इसका नोटिस चस्पा दिया था. इसके बाद से सुरजीत परेशान हो गए थे. उस दिन से उन्होंने सोना बंद कर दिया था. बीती रात सुरजीत दास पहली मंजिल पर सोने चले गए. पत्नी और बच्चे नीचे की मंजिल पर थे.

IIT कानपुर की रिसर्च में दावा- अक्टूबर में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर

सुबह पत्नी बुलबुल जब जगाने के लिए कमरे में पहुंची जो पंखे से शव को लटकता देख अवाक रह गई. जिसके बाद इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गई. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. इस घटना से परिवार में मातम का माहौल है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें