कानपुर: गंगा नदी ‌के बंदी माता घाट पर अवैध बालू खनन, अफसरों ने नहीं किया कुछ

Smart News Team, Last updated: Wed, 4th Aug 2021, 11:10 PM IST
  • कानपुर के सुनौढ़ा बंदी माता घाट (गंगा नदी) में खनन एरिया का सीमाकंन( तय की जगह पर पिलर) न होने का खनन माफियाओं ने फायदा उठाया. आवंटन की जगह दूसरे स्थान से मनमाने ढंग से अवैध बालू खनन किया गया. एसडीएम को एक महीने पहले अवैध खनन की रिपोर्ट दी गई इसके बाद भी अफसर जुर्माना लगाने से बच रहे हैं.
बंदी माता घाट

कानपुर. कानपुर के सुनौढ़ा बंदी माता घाट (गंगा) में खनन एरिया का सीमाकंन( तय की जगह पर पिलर) न होने का खनन माफियाओं ने फायदा उठाया. आवंटन की जगह दूसरे स्थान से मनमाने ढंग से अवैध रेत खनन किया गया. इसके बाद भी बिल्हौर तहसील से लेकर जिले के प्रशासनिक अफसर कार्रवाई के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति कर रहे हैं. 

खनन माफिया इसी कारण मनमानी और गुंडागर्दी कर रहे हैं. चौबेपुर के सुनौढ़ा बंदी माता घाट पर मनमाने पट्टेदार ने मनमाने तरीके से पूरे गंगा का किनारा खोद दिया है. तय की गए स्थान पर न करके दूसरी जगह पर खनन कर बालू निकाल ली है. लगातार ओवरलोड ट्रक से बालू निकालकर बेची जा रही है. 

एसडीएम को एक महीने पहले अवैध खनन की रिपोर्ट दी गई थी. इसके बाद भी अभी तक अफसर कार्रवाई और जुर्माना लगाने से बच रहे हैं. खनन विभाग की सचिव डॉ. रोशन जैकब ने बताया कि मौके पर मिले कई ओवरलोड ट्रक को देखकर अवैध खनन लग रहा है. सीमांकन होने के बाद स्थिति साफ होगी. अभी पिलर की जगह नौ पत्थर लगवा दिए गए हैं. अब जहां पत्थर लगे हुए वहीं बालू खनन होगा.

आपको बता दें कि सुनौढ़ा खनन एरिया में अप्रैल 2018 से पट्टा आवंटित होने के बाद भी अभी तक लाल झंडे लगाकर खनन किया गया. पिलर न होने के कारण खनन माफिया ने मनमानी की. माफिया ने कैमरा खराब कर अवैध खनन कर बालू निकाला.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें