कानपुर: दरिंगदी की सारी हदें पार! चाचा ने कार में किया नाबालिक संग दुष्कर्म

Smart News Team, Last updated: Mon, 3rd Jan 2022, 1:26 PM IST
  • उत्तरप्रदेश के कानपुर के बाबूपुरवा गांव में मुंहबोले चाचा ने दोस्त की गाड़ी में 14 वर्षीय नाबालिक लड़की संग दुष्कर्म किया. पीड़िता के गर्भवती होने के बाद मामला का खुलासा हुआ. परिवार वाले को जानकारी मिलने पर पुलिस को शिकायत दर्ज की. फिलहाल आरोपित सलाखों के पीछे है.
कानपुर: दरिंगदी की सारी हदें पार! मुंहबोले चाचा ने कार में किया नाबालिक बेटी संग दुष्कर्म

कानपुर. यूपी के कानपुर बाबूपुरवा गांव के मुंहबोले चाचा ने  रिश्तों का तार-तार कर दिया. मुंहबोले चाचा ने अपने दोस्त की कार में 14 वर्षीय नाबालिग से दुष्कर्म किया. शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी भी दी. चार दिन पहले मासूम की तबीयत खराब होने पर स्वजन अस्पताल ले गए तो वह दो माह की गर्भवती निकली.  

पिता की तहरीर पर बाबूपुरवा पुलिस ने दुष्कर्म (376) और पाक्सो (5/6) में रिपोर्ट दर्ज कर मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. बाबूपुरवा थाना क्षेत्र के मजदूर के परिवार में पत्नी, एक बेटा और 14 वर्षीय बेटी है. उनके मुताबिक पड़ोस में रहने वाले सुनील कुमार उर्फ सेठी को बेटी चाचा बोलती है. 

कानपुर में रेप के बाद छात्रा की हत्या, मुख्य आरोपी गिरफ्तार, एक फरार

आरोप है कि छह माह पहले बेटी बाजार से लौट रही थी, रास्ते में सुनील बस्ती के दोस्त के साथ कार से आया और उसे घर छोडऩे की बात कही. बेटी उसकी कार में बैठ गई. वह उसे दोस्त के घर के पास ले गया और कार में ही बेटी का मुंह दबाकर दुष्कर्म किया.

किसी से शिकायत करने पर उसे और परिवार को जान से मारने की धमकी दी. बेटी डरकर चुप रही. आरोप है कि सुनील ने उसके बाद से धमकी देकर बेटी से कई बार दुष्कर्म किया. 28 दिसंबर को बेटी की तबीयत खराब होने पर उसे अस्पताल ले गए, जहां पता चला कि वह गर्भवती है. पूछने पर बेटी ने आपबीती बयां की. थाना प्रभारी प्रदीप कुमार ने बताया कि आरोपित सुनील को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है.

महिला के साथ परिचित ने किया रेप, विरोध करने पर दी जान से मारने की धमकी, केस दर्ज

पीडि़ता का आरोप है कि पुलिस को बताया गया कि कार में दो लोग मौजूद थे तो पुलिस ने उनसे सिर्फ एक का नाम ही बोलने का दबाव बनाया और दूसरे को पकडऩे के बाद छोड़ दिया था, जबकि आरोपित कार मालिक भी है. 

थाना प्रभारी ने बताया कि पीडि़ता के पिता ने तहरीर देकर जो रिपोर्ट दर्ज कराई थी, 161 में उससे हटकर दूसरी बातें बता बयान दर्ज कराए हैं. अभी उसका मेडिकल नहीं हो पाया है. मेडिकल के बाद ही गर्भवती होने की पुष्टि हो सकेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें