कपिला पशु आहार और आरती चिट फंड के खिलाफ IT की बड़ी कार्रवाई, कई परिसरों पर छापा

Smart News Team, Last updated: Thu, 19th Nov 2020, 12:22 AM IST
  • आयकर विभाग ने बुधवार को पशु आहार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी कपिला पशु आहार और आरती चिट फण्ड पर छापेमारी की और कंपनी के 1000 करोड़ के कारोबार प्रमाण पत्र जब्त कर लिया. आयकर विभाग ने एक साथ कम्पनी के 30 ठिकानो पर छापेमारी किया था.
कपिला पशु व आरती चिट फण्ड पर आयकर का छापा

देश की नम्बर एक पशु आहार बनाने वाली कम्पनी कपिल पशु आहार और आरती चिट फंड पर आयकर विभाग ने बुधवार को छापे मार बड़ी कार्यवाही की. आयकर विभाग ने दोनों कम्पनियों के तीन राज्यो में स्थित 30 परिसरों पर छापेमारी की. अभी तक आयकर विभाग ने दोनों कम्पनियों के 1000 करोड़ रुपए के कारोबार के दस्तावेज जब्त कर लिए है और उन कागजातों में कम्पनी की तरफ से काफी कम कारोबार दिखाया गया है. कानपुर में तकरीबन ढाई साल बाद आयकर विभाग ने इतनी बड़ी कार्यवाही की है.

कानपुर के प्रधान आयकर निदेशालय जांच के नेतृत्व में बुधवार को कपिल पशु आहार और आरती चित फंड कंपनी पर छापेमारी की. आयकर विभाग ने सुबह नौ बजे एक साथ यूपी, पंजाब और दिल्ली में फैक्टरी, ऑफिस, हेडऑफिस और आवास पर एक साथ छापेमारी कर अपनी जांच के जद में ले लिया. वहीं कपिल पशु आहार से अलग होकर बने ब्रांड मिलकोमोर को भी आयकर विभाग ने अपने जांच की जद में लिया है.

जीएसटी घोटाले में कानपुर की 18 फर्मों के नाम, दो चार्टर्ड अकांउटेड गिरफ्तार

लॉकडाउन के बाद से यह अभी तक का आयकर विभाग का बड़ा छापा है. जिसको दिल्ली से मोनिटरिंग किया जा रहा है. इस छापेमारी में आयकर विभाग की 30 टीम लगी हुई है जिससे पल पल की रिपोर्ट लिया जा रहा है. दोनों कम्पनियों के मुख्यालय कानपुर में होने के नाते यहां से सबसे ज्यादा रिपोर्ट मांगी जा रगी है. आयकर विभाग को यहां से काफी दस्तावेज और हार्डडिस्क और किस बरामद हुआ है. जिसमें काफी अहम सबूत भी उनके हाथ लगे है.

सहायक शिक्षक भर्ती मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का CM योगी ने किया स्वागत

आयकर विभाग की सूत्रों की माने तो दोनों कम्पनियों पर लॉक डाउन से पहले से ही नजर रखी जा रही थी. कुछ समय से कम्पनी में टर्नओवर काफी कम दिखाया जा रहा था. साथ ही प्रोफिट भी एकाएक घटा हुआ दिखाया गया जबकि कम्पनी का उत्पादन अच्छा खासा चल रहा है. जिसकी जांच तीन महीने पहले से किया जा रहा था. आपको बता दे कि रनिया की फैक्ट्री देश की पशु आहार उत्पादन की सबसे बड़ी फैक्टरी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें