औद्योगिक विकास मंत्री ने किया वैक्सीनेशन का शुभारंभ, पहली वैक्सीन राहुल को लगी

Smart News Team, Last updated: Sat, 1st May 2021, 1:55 PM IST
  • कानपुर में केंद्र सरकार के निर्देश पर 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन शनिवार 1 मई से शुरू हो गया है. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कानपुर जिले में 18 से 44 वर्ष की आयु के युवाओं को कोरोना वैक्सीनेशन के लिए 15 सेंटर बनाए गए हैं. 
कानपुर में 18 वर्ष पूर्ण कर चुके लोगों को वैक्सीन लगनी शुरू

कानपुर. केंद्र सरकार के निर्देश पर कानपुर में 18 वर्ष  से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन शनिवार एक मई को शुरू हो गया. बता दें कि उत्तर प्रदेश में तेजी के साथ बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने 1 मई से 18 वर्ष पूर्ण कर चुके सभी लोगों को वैक्सीन लगाने के निर्देश जारी किए थे. जिसके चलते कानपुर में 18 वर्ष पूर्ण कर चुके लोगों को वैक्सीन देने के कार्य का शुभारंभ शनिवार को औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना और प्रशासनिक अफसरों ने किया. कानपुर में पहला टीका राहुल प्रताप साहू को लगाया गया है और टीकाकरण के पश्चात राहुल प्रताप साहू को औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने सर्टिफिकेट भी दिया.

बता दें कि कानपुर के उर्सला अस्पताल के कोविड सेंटर में शनिवार को औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने फीता काटकर वैक्सीनेशन कार्य का शुभारंभ किया. इस दौरान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने वाले राहुल प्रताप साहू को पहला वैक्सीन का डोज दिया गया. राहुल प्रताप साहू के वैक्सीनेशन कार्य पूर्ण होने के बाद औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने अपने हाथों से उन्हें सर्टिफिकेट देते हुए सलाह दी कि भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी प्रोटोकॉल का भी पालन जरूर करें और घर से निकलने के पहले मास्क के बाद 2 गज की दूरी का ख्याल रखें. आप खुद सुरक्षित रहें और घर वालों को भी सुरक्षित रखें. इसी के साथ पहला टीका लगवाने वाले राहुल ने भी युवा साथियों को सलाह दी है कि टीकाकरण अभियान में बढ़ चढ़कर हिस्सा लें, जिससे कि युवा पीढ़ी कोरोना महामारी से सुरक्षित हो सके और राहुल ने यह भी अपील की है किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें, टीका पूरी तरीके से सुरक्षित है.

रेलवे ने निरस्त की 1 मई से बहाल होने जा रही महानंदा एक्सप्रेस, इस तारीख तक बंद

कानपुर में बनाए गए 15 सेंटर : कानपुर में तेजी के साथ बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार के निर्देश के बाद कानपुर जिले में 18 से 44 वर्ष की आयु के युवाओं को कोरोना वैक्सीनेशन के लिए 15 सेंटर बनाए गए हैं. जिसमें शहरी क्षेत्र में 11 तो वहीं ग्रामीण क्षेत्र में चार वैक्सीन सेंटर बनाए गए हैं, जहां युवा वैक्सीनेशन कार्य में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं.

मरीज को नहीं दिया रेमडेसिविर इंजेक्शन,नर्सिंग स्टाफ पर गैर इरादतन हत्या का केस

औद्योगिक विकास मंत्री ने कहा वैक्सीन ही हमारा सुरक्षा क्वच : कानपुर के उर्सला हॉस्पिटल में वैक्सीनेशन का शुभारंभ करने के बाद औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहां की 18 साल से 44 साल के युवाओं के वैक्सीनेशन के काम की शुरुआत 1 मई से हुई है. उन्होंने कहा कि टीका लगवाने के लिए नौजवानों में उत्साह है, वैक्सीन ही सुरक्षा क्वच के रूप में हम लोगों के सामने हैं. वैक्सीन के साथ ही भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी प्रोटोकॉल का भी पालन सभी को करना है. मास्क लगाना है, 2 गज की दूरी का पालन करना है, अपने आप को सुरक्षित रखने के लिए सभी प्रोटोकॉल का पालन करना आवश्यक है. ऐसा करने से आप अपने समाज को भी सुरक्षित रखेंगे अपने आप को सुरक्षित रखेंगे और अपने परिवार को भी सुरक्षित रखेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें