कानपुर में एक करोड़ के जाली स्टांप की सूचना पर इंटेलीजेंस सक्रिय

Smart News Team, Last updated: 21/01/2021 11:12 AM IST
  • कानपुर में जाली स्टांप और नोटरी टिकट मिलने के बाद एसटीएफ और इंटेलीजेंस को जांच में लगाया गया है। सूत्रों के मुताबिक शहर में एक करोड़ से ज्यादा के जाली स्टांप और नोटरी टिकट होने की बात सामने आ रही है।
जाली स्टांप में पकड़े गए आरोपित (फाइल फोटो)

कानपुर : जाली स्टांप और नोटरी टिकट बिक्री की जांच अब खुफिया तरीके से की जा रही है। कलेक्ट्रेट के आसपास 28 से ज्यादा स्टांप वेंडर शक के दायरे में हैं। शहर में एक करोड़ रुपये के जाली स्टांप और नोटरी टिकट होने के इनपुट पर पुलिस काम कर रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में स्टांप और नोटरी की खपत ज्यादा होने की बात सामने आ रही है।

कानपुर देहात में पशु व्यापारी को हंसिया मारकर पांच लाख रुपये लूटे

कल्याणपुर के एक भूमि विवाद के मामले की जांच एसपी पश्चिम ने सीओ कल्याणपुर को सौंपी है। बर्रा के एक भूमि विवाद में दस्तावेज की छानबीन में जाली स्टांप और नोटरी टिकट का इस्तेमाल होने की बात सामने आई थी। इसमें बर्रा पुलिस ने प्रयागराज स्टेनली रोड निवासी रंजीत कुमार रावत, कर्नलगंज निवासी मोहम्मद शीजान को गिरफ्तार किया था। पकड़े गए शातिरों के पास से पुलिस 5.50 लाख रुपये के स्टांप और नोटरी टिकट बरामद किए थे। मामले में आरोपितों के आधा दर्जन खातों से करीब एक दर्जन से अधिक खातों में लाखों की रकम भेजे जाने की पुष्टि हुई थी। एसपी साउथ दीपक भूकर ने बताया कि जाली स्टांप और टिकट बेचने वाले गिरोह के अन्य सदस्यों की धर पकड़ के लिए एसटीएफ और इंटेलीजेंस को भी लगाया गया है।

आईआईटी कानपुर ने डिस्लेक्सिया की पहचान के लिए बनाया ऐप

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें