इस साल भी जुलूस-ए-मोहम्मदी नहीं, जमीअत बोले- मुल्क के साथ, करेंगे गाइडलाइन का पालन

Nawab Ali, Last updated: Sat, 16th Oct 2021, 12:39 PM IST
  • कानपुर में हर साल 19 अक्टूबर को निकलने वाला जुलूस-ए-मोहम्मदी इस बार भी नहीं निकाला जायेगा. जमीअत उलमा-ए-हिंद के नगर अध्यक्ष डॉ. हलीमुल्लाह खां ने जारी वीडियो में कहा है कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए इस बार भी जुलूस नहीं निकला जायेगा. हम देश के साथ हैं. 
कानपुर में इस साल भी नहीं निकलेगा जुलूस-ए-मोहम्मदी.

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में हर वर्ष 19 अक्टूबर निकलने वाला जुलूस-ए-मोहम्मदी इस बार कोरोना गाइडलाइन के कारण नहीं निकलेगा. इस जुलूस को पिछले 109 साल से निकालने के लिए 1948 से आज जमीअत उलमा-ए-हिंद कर रही है. पिछले साल भी इस जुलूस को कोरोना संक्रमण के कारण नहीं निकाला जा सका. हर साल निकलने वाला यह जुलूस एशिया के सबसे लंबे जुलूस के रूप में पहचान रखता है. जमीअत उलमा-ए-हिंद ने वीडियो जारी कर कहा है कि हम पहले मुल्क के साथ हैं. लिहाजा जो गाइडलाइन है उसका पालन करते हुए जुलूस नहीं निकालेंगे

देश में कोरोना संक्रमण के कारण त्योहारों पर ग्रहण लगा है. देश में हर्षोल्लास से मनाये जाने वाले त्योहार कोरोना गाइडलाइन के चलते नहीं मनाया जा रहे हैं. कानपुर में हर साल 19 अक्टूबर को निकलने वाले जुलूस-ए-मोहम्मदी इस बार भी नहीं निकाला जायेगा. जमीअत उलमा-ए-हिंद के नगर अध्यक्ष डॉ. हलीमुल्लाह खां ने जारी वीडियो में कहा है कि जमीअत ने इसका नेतृत्व 1948 से संभाला था. तब से अब तक यह जुलूस निकल रहा है लेकिन 2020 में कोरोना की वजह से जुलूस नहीं निकाल पाए थे. इस बार भी गाइडलाइन का पालन करते हुए जुलूस पर पाबंदी रहेगी.

कानपुर: पनकी पुलिस ने ट्रक में भरकर स्लाटर हाउस ले जा रहे 21 मवेशियों को किया बरामद

नगर अध्यक्ष का कहना है कि किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान न दिया जाये. जुलूस को लेकर कानपुर कमिश्नर के साथ बैठक में भी जुलूस न निकालने पर सहमती बनी है. शहर काजी हाफिज कुद्दूस हादी ने वीडियो जारी कर कहा कि जुलूस न निकालें और सार्वजनिक स्थानों पर रोशनी न करें, घरों में रोशनी करें और भीड़ में न निकलें.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें