कानपुर: कोरोना से मौतों का आंकड़ा बढ़ा, हैलेट में सिस्टम सुधारने के निर्देश

Smart News Team, Last updated: Sun, 6th Sep 2020, 10:09 AM IST
  • अपर मुख्य सचिव डॉ.रजनीश दुबे ने हैलट अस्पताल में निरीक्षण किया. उन्होंने कानपुर में कोरोना से हो रही मौतों पर चिंता जताई. दो टूक में स्पष्ट कर दिया कि कानपुर में कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें हो रही हैं. इसके लिए सिस्टम को ठीक करके कोरोना से होने वाली मौतों को कम करने का निर्देश दिया. कोरोना मरीजों के लिए 270 बेड आईसीयू के 12 सितम्बर तक तैयार करने का भी निर्देश दिया.
हैलट अस्पताल

कानपुर. शनिवार को अपर मुख्य सचिव डॉ.रजनीश दुबे ने कानपुर में कोरोना से हो रही मौत पर चिंता जताई. उन्होंने डॉक्टरों से दो टूक में स्पष्ट कर दिया कि कानपुर में कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें हो रही हैं. डॉ.रजनीश दुबे ने डॉक्टरों से कहा कि कोरोना मरीजों की स्क्रीनिंग में सिस्टम की खामियां हैं. उन्होंने सिस्टम को ठीक करके कोरोना से होने वाली मौतों को कम करने का निर्देश दिया. अपर मुख्य सचिव ने कोरोना के गंभीर मरीजों को लेवल-2 और 3 के कोविड अस्पतालों में भर्ती किए जाने का निर्देश दिया.

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के हैलट में मेडिसिन विभाग के कमेटी हाल में पर मुख्य सचिव डॉ.रजनीश दुबे ने कोरोना के इंतजामों और तैयारियों पर दो घंटे तक अपर मुख्य सचिव आलोक कुमार, एसजीपीजीआई के डॉ. आरके सिंह के साथ चर्चा की. 

KDA के भूंखड पर बनी कोठी, सोते रहे अफसर, कोरोना वैक्सीन ट्रायल का दूसरा चरण शुरू

चर्चा के दौरान उन्होंने प्राचार्य प्रो.आरबी कमल,उप प्राचार्य प्रो.रिचा गिरि और सीएमओ डॉ.अनिल मिश्र को स्पष्ट किया कि कोरोना से होने वाली मौते ज्यादा है, इसे रोकिए. इसके लिए बेहतर सिस्टम और बनाइए.

मीटिंग के दौरान डॉ.दुबे ने कहा कि कोरोना के गंभीर मरीजों को जल्द से जल्द लेवल-3 हॉस्पिटल में भर्ती की व्यवस्था करें. डॉ.दुबे ने इसके लिए स्वास्थ्य विभाग और मेडिकल कॉलेज  प्रशासन को व्यवस्था करने का निर्देश दिया. 

कानपुर: संजीत अपहरण-हत्याकांड में शामिल बदमाश चीता उर्फ राजेश गिरफ्तार

मीटिंग में उन्होंने किसी भी तरह का तर्क सुनने से परहेज किया. मीटिंग के दौरान उन्होंने कानपुर डीएम आलोक तिवारी को मानीटर करने का निर्देश दिया. साथ ही अपर मुख्य सचिव ने मेडिकल कॉलेज प्रशासन को 12 सितम्बर तक 150 बेड हैलट, 75 रामा और 45 बेड आईसीयू कांशीराम अस्पताल में तैयार करने का निर्देश दिया. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें