बिकरू कांडः न्यायिक आयोग ने की मुठभेड़ स्थल की जांच, IG से पूछा कैसे की घेराबंदी

Smart News Team, Last updated: 28/08/2020 07:38 PM IST
  • विकास दुबे बिकरू एनकाउंटर मामले की जांच के लिए न्यायिक आयोग  मुठभेड़ स्थल पहुंचा. आयोग ने आईजी से पूछा कि एनकाउंटर में शामिल पुलिस टीम ने कैसे घेराबंदी की थी. टीम बिकरू से रवाना होकर जांच के लिए सचेंडी जाएगी.
बिकरू कांडः न्यायिक आयोग ने की मुठभेड़ स्थल की जांच, IG से पूछा कैसे की घेराबंदी

कानपुर. बिकरू कांड में मारे गए विकास दुबे के एनकाउंटर जगह पर न्यायिक आयोग जांच के लिए पहुंचा. मुठभेड़ स्थल पहुंचे न्यायिक आयोग ने आईजी मोहित अग्रवाल से पूछा कि पुलिस टी ने कैसे घेराबंदी की थी. आयोग की टीम शुक्रवार को बिकरू पहुंची. बिकरू से सटे काशीराम नेवादा गांव में उन्होंने उस जगह को देखा जहां 8 पुलिसकर्मियों की शहादत के बाद पुलिस ने अतुल दुबे और प्रेम प्रकाश पांडेय को मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था.

वहीं बिकरू से कुछ दूर सचेंडी में विकास मारा गया था. न्यायिक आयोग वहां भी गया. न्यायिक आयोग के सदस्यों ने मुठभेड़ स्थल का जायजा लेने के बाद आईजी रेंज मोहित अग्रवाल से कई सवाल पूछे. उनसे पूछा गया कि किस तरह दोनों बदमाशों की घेराबंदी की गई? 

कितनी तरफ से पुलिस ने घेरा बनाया था? किस तरीके से फायरिंग की गई? अपराधियों के छिपे होने की सूचना पुलिस को कैसे मिली? इसी तरह से पूछा कि मुठभेड़ में मारे गए बदमाश किस तरह के हथियार से गोलियां चला रहे थे?

घेराबंदी की जानकारी देते अधिकारी

कानपुर: पुलिस और आबकारी विभाग ने शराब से भरा ट्रक पकड़ा, ट्रक चालक फरार

टीम बाकी मुठभेड़ स्थल पनकी और सचेंडी के लिए रवाना हो गई. पनकी में प्रभात मिश्रा और सचेंडी में विकास दुबे का एनकाउंटर हुआ था. जांच दल इन दोनों मुठभेड़ स्थलों का दौरा करेगा. पुलिस पर हमले में शामिल प्रभात मिश्रा को पुलिस ने पनकी में मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था. इसी तरह उज्जैन से लाते वक्त पुलिस की गाड़ी पलट गई तो विकास दुबे ने भागने की कोशिश की. पुलिस ने घेराबंदी कर विकास को मुठभेड़ में मार गिराया था.

मुठभेड़ स्थल की जांच करता न्यायिक आयोग

कानपुर: बर्रा पुलिस संग पूर्व CM अखिलेश यादव से मिलने लखनऊ पहुंचे संजीत के परिजन

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें