कानपुर: बुढ़वा मंगल पर कोरोना का साया, लोगों ने घरों में रहकर की पूजा-अर्चना

Smart News Team, Last updated: 01/09/2020 03:31 PM IST
  • बुढ़वा मंगल पर पनकी के श्रीपंचमुखी हनुमान मंदिर में मंगला आरती की गई. हालांकि कोरोना वायरस के कारण मंदिरों में कपाट बंद रहे और लोगों ने घरों में रहकर हनुमान जी की पूजा-अर्चना की.
पनकी स्थित श्रीपंचमुखी हनुमान मंदिर (फाइल फोटो)

कानपुर. कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से कानपुर में बुढ़वा मंगल पर पनकी मंदिर के कपाट बंद रहे. हालांकि पनकी स्थित श्रीपंचमुखी हनुमान मंदिर में इस अवसर पर हनुमान जी की मंगला आरती की गई. घंट घड़ियाल की गूंज के साथ जयकार हुई. गौरतलब है कि हर साल बुढ़वा मंगल के अवसर पर मंदिर में हनुमान जी के दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ती थी. लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते ऐसा नहीं हो सका. लोगों को मंदिरों में भीड़ ना लगाने को कहा गया था. 

विकास दुबे के गुर्गे जय की 37 करोड़ की 11 संपत्तियां कुर्क करने का नोटिस चस्पा

बुढ़वा मंगल के अवसर पर मंदिर में भीड़ ना लगे इसके लिए मंदिर की तरफ जाने वाले सभी रास्ते बंद कर दिए गए थे. पुलिस ने मंदिर के हर रास्ते पर भक्तों को प्रवेश करने से रोकने के लिए बैरियर लगा रखी थी और इन बैरियर पर पुलिस भी तैनात थी. लेकिन इतने इंतजाम के बावजूद कई भक्त मंदिर तक मत्था टेकने पहुंच ही गए थे. 

कानपुर मेट्रो में यूरोपीय संघ बैंक करेगा अरबों का निवेश, 32.4 किमी का प्रोजेक्ट

शहर में स्थित बाकि मंदिरों का भी कुछ यहीं हाल था. रावतपुर जीटी रोड स्थित दक्षिणेश्वर हनुमानजी मंदिर में भी भक्तों ने मंदिर के बाहर से ही भगवान के सामने सीस झुकाने पहुंचे थे. इधर मंदिर जाने की पाबंदियों की वजह से लोगों के घरों में पूरे दिन भक्तिमय माहौल रहा. घर-घर हनुमानजी की पूजा की गई. कई घरों में सुंदर कांड और हनुमान चालिसा का पाठ हुआ और हनुमान जी को भोग लगाया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें