कानपुर में इलाज न मिलने की वजह से कारोबारी की पत्नी की डेंगू बुखार से मौत

Smart News Team, Last updated: 24/08/2020 07:16 PM IST
  • शहर में डेंगू तेजी से पांव पसार रहा है.कारोबारी की पत्नी की मौत डेंगू का इलाज नही मिलने की वजह से हुई.परिजनों ने डाक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया. 
डेंगू मच्छर 

कानपुर : कानपुर में सोमवार को इलाज न मिलने कारण करोबारी की पत्नी डेंगू से मौत हो गई. कारोबारी ने अपनी पत्नी के इलाज के लिए कानपुर समेत लखनऊ के कई अस्पतालों और नर्सिंग होम के चक्कर काटे लेकिन कहीं भी उसे इलाज नही मिला. 

जानकारी के मुताबिक गायत्रीनगर निवासी कारोबारी विवेक मिश्र  की पत्नी अरुणा मिश्रा की चार दिन पहले डेंगू रिपोर्ट आई थी जिसके बाद विवेक ने रामादेवी के टौरस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जहां पर डॉ.अंकुर सचान की देखरेख में अरुणा का इलाज चल रहा था. प्लेटलेट्स कम होने के कारण उसे 15 यूनिट प्लेटलेट्स भी चढ़ाया गया. लेकिन शनिवार शाम मरीज की हालत खराब होते देख  डॉक्टरों ने स्वरूपनगर के गैस्ट्रो सेंटर के लिए रेफर कर दिया. गैस्ट्रो सेंटर के डाक्टरों ने गंभीर हालात देख हैलट ले जाने के लिए कह दिया. 

यूपी DGP के निर्देश- शनिवार और रविवार को भी पुलिस मुख्यालय आएं बड़े अधिकारी

विवेक के मुताबिक वो  पत्नी को इलाज के लिए लखनऊ के मेदांता अस्पताल ले गए. जहां कोरोना संक्रमण के कारण इलाज नहीं मिलने पर वो पत्नी को लेकर अपोलो अस्पताल पहुंचे. अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों ने अरुणा की कोरोना जांच के बाद ही उसका इलाज करने की बात कही. जिसके बाद इलाज नही मिला और अस्पताल के बाहर ही खून की उल्टी करने के बाद उसकी मौत हो गई. विवेक और परिजनों का आरोप है कि अगर अरुणा को समय पर इलाज मिलता तो उसकी जान बचाई जा सकती थी. 

 

आपको बता दें कि शहर में इस वक्त डेंगू के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं. जिस कारण सीएमओ डॉ.अनिल मिश्र ने बड़े पैमाने पर फागिंग करने और उसकी रिपोर्ट आयुक्त को सौंपने के निर्देश दिए हैं. यह डेंगू का पहला मामला नही है इससे पहले पीआरवी के हेड कांस्टेबल आरके द्विवेदी की भी डेंगू के कारण मौत हुई थी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें