दहेज नहीं मिलने पर पति ने पहले फेसबुक पर डाल दी पत्नी की अश्लील फोटो फिर..

Swati Gautam, Last updated: Sat, 16th Oct 2021, 6:48 PM IST
  • चकेरी में दहेज की मांग पूरी न होने पर पति ने अपनी ही पत्नी की अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर डाल दी और उस पर आपत्तिजनक कमेंट और गालियां भी दी. पीड़िता का आरोप है कि उसके ससुराल वालों ने भी उसके साथ मारपीट की और घर से निकाल दिया था. पीड़ित ने ससुरालीजनों के खिलाफ चकेरी थाने में मामला दर्ज कराया है
दहेज नहीं मिलने पर पति ने पहले फेसबुक पर डाल दी पत्नी की अश्लील फोटो फिर..

कानपुर. चकेरी से पति पत्नी के रिश्ते को कलंकित करने वाला मामला सामने आया है. जहां दहेज की मांग पूरी ना होने पर पहले ससुराल वालों ने महिला को मारा पीटा और घर से निकाल दिया फिर पति ने अपनी ही पत्नी की अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर डाल दी. साथ ही फोटो पर अपत्तिजनक टिप्पणी और गाली गलौज करना शुरू दिया. पीड़िता ने चकेरी थाने में अपने पति के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है. पीड़िता ने आरोप लगाते हुए कहा है कि उसके ससुराल वालों ने दहेज के लिए उसे बहुत प्रताड़ित किया है. मारपीट कर घर से निकालने के बाद अब पति सोशल मीडिया पर उसकी अश्लील फोटो डालकर उसे बदनाम करने की कोशिश कर रहा है.

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसकी शादी तीन मार्च 2019 को सनिगवां निवासी युवक से हुई थी. शादी के कुछ दिन बाद ही उसका पति और उसके ससुराल वाले युवती से दहेज की मांग करने लगे. पीड़िता ने बताया कि उसके पति को नशे और जुए की लत है. शादी के बाद से दहेज के लिए उसके पति समेत सास, नन्द और जेठ मारते पीटते थे. नवंबर 2019 में पीड़िता ने बच्ची को जन्म दिया उसके बाद ससुराल वालों ने और ज्यादा प्रताड़ित करना शुरू कर दिया. 10 मई 2020 को आरोपित पति ने ससुरालीजनों के साथ मिलकर उसे मारा पीटा इसके बाद बच्ची समेत उसे घर से निकाल दिया.

कानपुर: शराब को पैसे ना देने पर दबंगों ने बेहरमी से युवक को पीटा, मौत

पीड़िता ने बताया कि ससुराल वालों के द्वारा घर से निकालने के बाद वह बेटी को लेकर अपने मायके रहने लगी. कुछ महीने पहले पति ने फेसबुक पर अपनी पत्नी की अश्लील फोटो पोस्ट कर दी और उन पर आपत्तिजनक कमेंट भी किए और गालियां भी दी. जिसको लेकर पीड़िता और उसके परिवार ने चकेरी थाने में मुकदमा दर्ज कराया है. चकेरी इंस्पेक्टर मधुर मिश्रा ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें