कानपुर: कोरोना वैक्सीन ट्रायल का पहला चरण पूरा, सैंपल ICMR भेजे गए

Smart News Team, Last updated: 28/08/2020 09:02 PM IST
  • ICMR की कोरोना वैक्सीन (बीबीवी 152 कोविड वैक्सीन) के पहले फेज का ट्रायल पूरा होने के बाद सैंपल दिल्ली आईसीएमआर भेज दिया गया है.
कोरोना वैक्सीन का ट्रायल भारत में चल रहा है.

कानपुर. शुक्रवार रात ICMR की कोरोना वैक्सीन (बीबीवी 152 कोविड वैक्सीन) के पहले फेज का ट्रायल को पूरा हो गया. इस क्रम में शहर और आसपास के सभी 33 वालंटियर्स को वैक्सीन की पहली और फिर दूसरी डोज लगने के बाद एंटीबॉडीज टाइटर टेस्ट के लिए आखिरी ब्लड सैम्पल लिया गया है. अब सभी वालंटियर्स में एंटीबॉडीज कितनी बनी इसका आकलन ICMR करेगा और अगर वालंटियर्स में एंटी बॉडीज ठीक से विकसित होने के परिणाम सकरात्मक आए तो डॉक्टरों ने साल 2020 के अंत तक भारतीय कोरोना वैक्सीन के आने की उम्मीद जताई है. डाक्टरों के अनुसार फिलहाल सारे वालंटियर्स फिट और स्वस्थ हैं.

बता दें कि कानपुर के प्रखर हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने ICMR की गाइडलाइंस के बाद एम्स दिल्ली की टीम के साथ 33 वालंटियर्स पर वैक्सीन के दो डोज लगाकर एंटी बॉडीज चेक किया गया. इसके साथ ही शुक्रवार रात तक ब्लड सैम्पल लेने का क्रम पूरा हो गया.

कानपुर: मानवेंद्र सिंह बने क्षेत्रीय BJP अध्यक्ष, दस लोकसभा सीट जीतने का तोहफा

कोरोना वैक्सीन ट्रायल टीम के चीफ गाइड डॉ.जेएस कुशवाहा ने कहा कि सभी 33 वालंटियर्स पर वैक्सीन की दो डोज लगने 14 दिन के बाद एंटीबॉडीज को चेक करने के लिए ब्लड सैम्पल लेकर ICMR भेजा गया है. और अब इस एंटीबॉडीज टाइटर टेस्ट के बाद वैक्सीन के असर और एंटीबॉडीज बनने का अंदाजा लगेगा. डाक्टरों के अनुसार अभी तक सबकुछ ठीक है और वालंटियर्स में एंटी बॉडीज ठीक विकसित होने का रिजल्ट मिला तो उम्मीद है कि देसी कोरोना वैक्सीन साल के अंतिम महीनों में आ जाएगी.

UP BJP क्षेत्र अध्यक्ष: बेनीवाल, मानवेंद्र, महेश, रजनीकांत, शेषनारायण, धर्मेंद्र

डॉ.कुशवाहा ने बताया कि प्रखर हॉस्पिटल में वैक्सीन ट्रायल के लिए 52 वालंटियर्स की स्क्रीनिंग की गई थी. जिसमें कानपुर और आसपास के जिलों के वालंटियर्स को शामिल किया गया है. लेकिन अभी सिर्फ 33 को ही पहले फेज में वैक्सीन लगाने के लिए लिया गया है. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि अब कोरोना ग्राफ के बढ़ने के कारण लगातार और भी वालंटियर्स उनसे सम्पर्क कर ट्रायल का हिस्सा बनने की इच्छा जाहिर कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि कोरोना वैक्सीन का दूसरा ट्रायल फेज कुछ महीने के बाद शुरू हो सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें