विकलांग और बुजुर्ग मतदाता घर बैठे डालेंगे वोट, प्रशासन देगा ये सुविधा

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Tue, 11th Jan 2022, 4:26 PM IST
  • कानपुर देहात प्रशासन उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में बुजुर्गो और विकलांग मतदातों को घर बैठे वोट करने की सुविधा दे सकता है. जिसके लिए जिला प्रशासन ने तैयारियां भी शुरू कर दी है.
विकलांग और बुजुर्ग मतदाता घर बैठे डालेंगे वोट, प्रशासन देगा ये सुविधा

कानपुर देहात (वार्ता). कानपुर देहात में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में बुजुर्ग और विकलांग मतदाता घर बैठे ही अपना वोट डालेंगे. जिसके लिए प्रशासन ने पोस्टल बैलेट की सुविधा प्रदान करने की तैयारी में जुट गया है. जिसका लाभ जिले के चार विधानसभा क्षेत्रों के करीब 37 हजार 553 मतदाताओं को मिल सकेगा. दरअसल मतदान के दिन पोलिंग बूथों पर होने वाली भीड़ के कारण कई बार दिव्यांगों एवं बुजुर्गों को भी वोट डालने के लिए लाइन में खड़ा होना पड़ता है जिससे उन्हें असुविधा होती है. वहीं प्रशासन दिव्यांग मतदाता एवं 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं को पोस्टल बैलेट की सुविधा देने को लेकर तैयारियों में जुट गया हैं.

कानपुर देहात की चारों विधान सभा क्षेत्रों में 8858 दिव्यांग मतदाता हैं. वहीं, 80 की उम्र पूरी कर चुके बुजुर्ग मतदाताओं की संख्या 28,495 है. जल्द ही इन मतदाताओं के घर जाकर बीएलओ मतदान का विकल्प पूछकर एक फार्म भरेगा. अगर मतदाता घर से वोट देने का विकल्प चुनेगा तो उसे मतदान के दिन पेपर बैलट की व्यवस्था तय करने के साथ मतदान की सुविधा मुहैया कराई जाएगी. निर्वाचन आयोग के इस फैसले से जिले के दिव्यांग व बुजुर्ग मिलाकर 37,553 मतदाता सीधे तौर पर लाभान्वित होंगे.

इत्र के बाद पान मसाला पर DGGI की नजर, शिखर ग्रुप से जुड़े अनिल अग्रवाल और पवन मित्तल पर रेड

यदि ऐसे व्यक्तियों द्वारा पोस्टल बैलेट का विकल्प दिया जाता है तो उनके निवास के पते पर दो मतदान कार्मिक पर्याप्त सुरक्षा कर्मचारी के साथ मतदान की सुविधा उपलब्ध करायेंगे तथा पोस्टल बैलेट मानकों के अनुसार रिटर्निंग आफीसर को वापसी में हस्ताक्षर करायेंगे. ऐसे चिन्हित मतदाताओं की सूची राजनैतिक प्रत्याशियों को भी दी जायेगी ताकि वे गुप्त मतदान की प्रक्रिया के अवलोकन के लिये स्वयं भी अपना प्रतिनिधि भेज सके.

जिला निर्वाचन अधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि समस्त उप जिलाधिकारियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि इस कार्य को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए दिव्यांग व बुजुर्ग मतदाताओं के घर जाकर बीएलओ फार्म अपडेट कराएंगे और जिला निर्वाचन कार्यालय को सूचित भी करेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें