ईको फ्रेंडली PM आवास बनाने में कानपुर देश में अव्वल,KDA को केंद्र से मिला सम्मान

Smart News Team, Last updated: 02/12/2020 09:01 PM IST
  • ईको फ्रेंडली प्रधानमंत्री आवास बनाने और इस योजना के सही ढंग से क्रियान्यवयन में कानपुर देश में अव्वल निकला है. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने दिल्ली में आयोजित एसोचैम के वर्चुअल आयोजन में केडीए उपाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह को प्रेस्टिजियस क्लाइंट अवॉर्ड से नवाजा है.
ईको फ्रेंडली पीएम आवास बनाने में अव्वल आने पर केंद्र सरकार ने केडीए को प्रेस्टिजियस क्लाइंट अवॉर्ड से नवाजा है

ईको फ्रेंडली (ग्रीन बिल्डिंग) पीएम आवास बनाने और इस योजना का सही ढंग से क्रियान्वयन करने में अपना कानपुर देश में अव्वल निकला है. केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने बुधवार को दिल्ली में आयोजित एसोचैम के वर्चुअल आयोजन में केडीए उपाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह को प्रेस्टिजियस क्लाइंट अवार्ड से नवाजा है.

आयोजन में बताया गया कि केडीए ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जो 10032 आवास बनाए हैं वो सभी ग्रीन बिल्डिंग के रूप में 5 स्टार हासिल कर चुके हैं. खास बात यह है कि वर्ष 2015 में केडीए ने इतने ही आवास बनाने का लक्ष्य रखा था और सारे आवास बनाकर लाटरी के जरिए आवंटित भी कर दिए. इसे केंद्र सरकार की नजर में बेहद अहम माना गया. केंद्रीय जलशक्ति मंत्री ने अलग-अलग क्षेत्र में बेहतर काम करने वाले 16 विभागों और सरकारी संस्थाओं के उच्चाधिकारियों को सम्मानित किया जिसमें केडीए वीसी का नाम भी शामिल है.

पीएम आवास को फाइव स्टार मिलना गर्व की बात

केडीए के मुख्य अभियंता चक्रेश जैन कहते हैं कि प्रेस्टिजियस क्लाइंट का मतलब है कि सरकार का ऐसा मुवक्किल जिसने योजनाओं के क्रियान्वयन के साथ ही हर तरह से खर्च में राहत पहुंचाई हो. मुख्य अभियंता कहते हैं कि बड़े-बड़े बिल्डर भी ग्रीन बिल्डिंग बनाने के मामले में टू से थ्री स्टार तक सिमट जाते हैं मगर केडीए ने इसमें अग्रणी भूमिका निभाते हुए फाइव स्टार हासिल किया. यह गर्व की बात है.

श्रीराम चौक नाम का बैनर हटाने पर बवाल, बजरंग दल कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज, तनाव

फ्लाई ऐश के इस्तेमाल से बची पानी की बर्बादी

चक्रेश जैन कहते हैं कि पीएम आवास में जहां दीवारें बनाने में ईंट की जगह फ्लाई ऐश के एएसी ब्लॉक्स का इस्तेमाल किया है जिसे जोड़ने के लिए प्लास्टर की जगह केमिकल का इस्तेमाल हुआ. प्लास्टर न होने से दीवारों की तराई की भी जरूरत नहीं पड़ी. इससे पानी की बर्बादी बची. बाकी निर्माण इस ढंग से किए गए हैं कि बाहर के तापमान से 4 डिग्री कम तापमान ऐसे आवासों के भीतर लोगों को मिलेगा. बताते चलें कि केडीए ने महावीर नगर विस्तार, रामगंगा एनक्लेव, सकरापुर और भागीरथी-जाह्नवी एनक्लेव में पीएम आवास बनाए हैं.

कानपुर के कार एक्सेसरीज गोदाम में लगी आग, लाखों का सामान जलकर खाक

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें