कानपुर: इंजीनियर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, परिजनों की प्रताड़ना से था परेशान

Smart News Team, Last updated: Tue, 11th May 2021, 4:48 PM IST
  • सोमवार को एक 28 वर्षीय इंजीनियर ने अपने परिजनों की प्रताड़ना से तंग आकर खुद को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. युवक ने अपने परिजनों के खिलाफ जाकर नंवबर में अपनी सहकर्मी शोभा से प्रेम विवाह किया था. जिसके बाद से परिजन नाराज चल रहे थे और उसे प्रताड़ित भी करते थे.
28 वर्षीय इंजीनियर ने परिजनों की प्रताड़ना से तंग आकर खुदखुशी की ( सांकेतिक फोटो )

कानपुर. रायपुरवा में एक इंजीनियर ने अपने परिजनों की प्रताड़ना से परेशान होकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. युवक इंदौर की एक कंपनी में नौकरी करता था. युवक ने नंवबर में अपनी सहकर्मी के साथ लव मैरिज की थी. लेकिन उसके परिजन इस शादी के खिलाफ थे. इस कारण अपने बेटे को प्रताड़ित करते थे. जिससे तंग आकर युवक ने सोमवार को आत्महत्या कर ली.  

जानकारी के अनुसार कानपुर में रायपुरवा के तेजाब मिल कैंपस में ललित कुमार गुप्ता का बड़ा बेटा रजत रहता था. रजत 28 वर्ष का था और पेशे से इंजीनियर था. वह इंदौर की एक कंपनी में जॉब करता था. इसी दौरान कंपनी में उसकी सहकर्मी शोभा के साथ उसका प्रेम संबंध हो गया. जिसके बाद उसने अपने परिजनों की मर्जी के खिलाफ जाकर शोभा से शादी कर ली. रजत की शादी के बाद से ही उसके परिजन उससे नाराज चल रहे थे. साथ ही उसे प्रताड़ित भी किया करते थे.

कानपुर IIT अस्सिटेंट रजिस्ट्रार ने लगाई फांसी, बेटे को कोरोना होने से थे परेशान

इसके अलावा रजत के छोटे भाई अनुभव ने एक सप्ताह पहले अपने बड़े भाई और उसकी पत्नी शोभा के साथ मारपीट भी की थी. जिसके बाद रजत शोभा को उसके मायके कानपुर देहात के राजपुर सुनहरा में छोड़ आया. रजत की शोभा से सोमवार को फोन पर बातचीत भी हुई थी और उसे लेने आने के लिए भी शोभा ने कहा था. लेकिन सोमवार की सुबह ही रजत ने खुद को फांसी लगाकर खुदखुशी कर ली. पुलिस इस मामले की तहकीकात कर रही है.

मजदूरों के लिए शुरू 8433 हेल्पडेस्क, कोरोना संक्रमित होने पर मिलेगी दवा और ऑक्सीजन

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें