कानपुर : गणेश शंकर विद्यार्थी सुपर स्पेशियलिटी PGI में मरीजों को मिलेगा बेहतर इलाज

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Fri, 5th Nov 2021, 10:00 PM IST
  • कानपुर में 200 करोड़ की लागत से बने 6 मंजीला सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का नाम गणेश शंकर विद्यार्थी के नाम पर रखा गया है. आधुनिक सुविधाओं से युक्त 240 ICU बेड बनकर तैयार इस ब्लॉक का संचालन SGPGI की तर्ज किया जाना है. जिससे कानपुर समेत आसपास के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेगी.
प्रतीकात्मक फोटो

कानपुर. कानपुर GSVM मेडिकल कॉलेज के लाला लाजपत राय अस्पताल (पुराना नाम हैलट हास्पिटल) के नजदीक बने सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का नामकरण गणेश शंकर विद्यार्थी के नाम पर कर दिया गया है. SGPGI की तर्ज पर इसके संचालन की कवायद भी तेज हो गई है. आधुनिक सुविधाओं से युक्त इस सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में कुल 8 विभाग संचालित किए जाएंगे. इलाज के साथ साथ यहां पढ़ाई भी कराई जाएगी और स्पेशलिस्ट डाक्टर भी तैयार किए जाएंगे. प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत बने इस नए ब्लॉक में कानपुर समेत आसपास के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेगी.

दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) की निगरानी में बना यह 6 मंजिला सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक कानपुरवासियों के लिए किसी तोहफे से कम नहीं है. केंद्र सरकार की पहल पर 200 करोड़ रुपए की लागत से बने इस सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में कुल 8 विभाग हैं. जिनमें आधुनिक सुविधाओं से युक्त 240 ICU बेड भी है.

दिवाली के दिन कानपुर में फूटा जीका वायरस का बम, 56 नए संक्रमित मरीजों की पुष्टि

बता दें कि इस ब्लॉक के तैयार होने के बाद इसके नामकरण व संचालन को लेकर काफी दिनों से गहमागहमी चल रही थी. इसके नामकरण के लिए जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियों ने 3 नाम सूबे की सरकार को सुझाए थे. जिस पर फैसला लेते हुए सूबे के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने इस ब्लॉक का नाम गणेश शंकर विद्यार्थी सुपर स्पेशलिटी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट रखा है. नामकरण के बाद इसे SGPGI की तर्ज पर संचालित करने का संकेत भी मिल चुका है.

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल प्रोफेसर संजय काला ने इस नए सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक को लेकर बताया कि शासन की तरफ से इस ब्लॉक का नामकरण गणेश शंकर विद्यार्थी के नाम पर कर दिया गया है. SGPGI की तर्ज पर इसके संचालन की तैयारी चल रही है. यह सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक सभी आधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा. इसमें 8 विभाग के स्पेशलिस्ट डाक्टरों की नियुक्ति के लिए पदों की स्वीकृति का प्रस्ताव शासन को भेजा जा चुका है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें