कानपुर में देर रात बवाल, किसी के कमेंट पर भड़की भीड़, पुलिस ने लाठियों से खदेड़ा

Smart News Team, Last updated: 26/08/2020 07:24 AM IST
  • कानपुर के ग्वालटोली इलाके में मोहर्रम की मजलिस को लेकर दो पक्षों में बवाल हो गया. कानपुर पुलिस ने उपद्रवियों को लाठियों से खदेड़ा. कानपुर के चार थानों की पुलिस देर रात तक इलाके में गश्त करती रही.
कानपुर के ग्वालटोली में देर रात गश्त करते एसपी.

कानपुर. कानपुर में मोहर्रम की मजलिस को लेकर ग्वालटोली इलाके में मंगलवार रात बवाल हो गया. दो पक्षों में पथराव शुरू हो गया. कानपुर पुलिस ने उपद्रवियों को लाठियों से खदेड़ा. बवाल को बढ़ता देख मस्जिद के मौलाना ने दखल दिया और भीड़ को शांत कराया. कानपुर में देर रात तक चार थानों की पुलिस फोर्स इलाके में गश्त करती रही.

मुहर्रम की मजलिस एक घर में पढ़ी जा रही थी. सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची और डॉ. अली फैजान को थाने ले आई. इस खबर के फैलते ही भीड़ थाने पहुंच गई और नारेबाजी के साथ घेराव कर दिया. मामले को शांत कराने का प्रयास किया ही जा रहा था कि कुछ अराजकतत्वों ने गलत कमेंट कर दिए जिसके बाद भीड़ भड़क गई औऱ पथराव शुरू हो गया.

ग्वालटोली इलाके में बवाल को बढ़ता देख मौलाना सईद अब्बास ने अधिकारियों से बात करके बताया कि घर में मजलिस पढ़ने पर सरकार द्वारा रोक नहीं लगाई गई है. वहीं मजलिस के दौरान कोविड गाइडलाइंस का पूरी तरह पालन किया जा रहा है. मौलाना के बात करने के बाद डॉ. फैजान को छोड़ा गया. फैजान के छोड़ने के बाद भीड़ वापस लौट गई. 

कानपुर पुलिस लाइन में बरामदा गिरने से सिपाही की मौत के बाद चार जर्जर बैरकें खाली

डॉ फैजान ने इस मामले पर कहा है कि वह घर में मजलिस पढ़ रहे थे. इस दौरान जो हिस्सा निकाला जाता है उसे लेने काफी संख्या में गरीब लोग आए थे. उन्हीं में हिस्सा बांटा जा रहा था कि किसी ने पुलिस को भीड़ जुटने की सूचना दे दी. 

संजीत अपहरण-हत्याकांड मामले में पुलिस को चकमा दे परिवार धरने पर बैठा, हुआ हंगामा

एसपी पश्चिम ने कहा कि आपसी विवाद के मामला है. इंस्पेक्टर से रिपोर्ट मांगी गई है उसके बाद कार्रवाई की जाएगी. वहीं भीड़ को समझाकर मामले को शांत करा दिया गया है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें