कानपुर: मरीज को अस्पताल ले जाने के बजाय एंबुलेंस ड्राइवर करने लगे दारू पार्टी, मरीज की मौत

Priya Gupta, Last updated: Thu, 9th Sep 2021, 10:34 AM IST
  • कानपुर के घाटम में एंबुलेंस की लापरवाही की वजह से एक मरीज की जान चली गई. 
कानपुर

कानपुर: कानपुर के घाटम में एंबुलेंस की लापरवाही के कारण एक मरीज की जान चली गई. कानपुर देहात के गजनेर थानाक्षेत्र के रूपपुर गांव निवासी 70 वर्षीय सुर्जन ङ्क्षसह को एक कीड़े ने काट लिया था. सीएचसी पहुंचे मरीज को कानपुर रेफर कर दिया गया लेकिन एंबुलेंस चालक उसे अस्पताल ले जाने के बजाय सीएचसी परिसर के एक कमरे शराब पार्टी करने लगा. देरी होने पर मरीज की मौत हो गई. कमरे में दारु पार्टी करते देख लोगों ने वीडियो बनाना शुरू कर दिया इसपर एंबुलेंस चालक ने जमकर हंगामा किया.

सुर्जन ङ्क्षसह को बुधवार दोपहर 4.50 बजे उन्हें कानपुर के लिए रेफर किया गया. सूचना पर एंबुलेंस भी पहुंची, लेकिन चालक अनुज व कोमलबाबू मरीज को कानपुर ले जाने के बजाए गायब हो गए. काफी तलाश के बाद स्वजन उन्हें खोजते-खोजते सीएचसी के एक कमरे में मिले, जहां पर पार्टी चल रही थी. साथ में आठ-दस और एंबुलेंस चालक थे. ये देखकर वहां मौजूद लोगों ने वीडियो बनाना शुरू कर दिया.

एंबुलेंस चालकों को हंगामा शुरू हो गया. शोर सुनकर सीएचसी अधीक्षक डाक्टर कैलाश चंद्रा मौके पर पहुंचे. करीब एक घंटे बाद सुर्जन ङ्क्षसह को एंबुलेंस से कानपुर के लिए भेजा गया. थोड़ी दूर बढ़ते ही उनकी मौत हो गई. स्वजन के मुताबिक सुर्जन ङ्क्षसह की मौत सीएचसी में ही हो गई थी. वहीं, सीएचसी अधीक्षक ने बताया कि मरीज की मौत सीएचसी में हुई है या रास्ते में इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है. उन्होंने बताया कि हमारे यहां से मरीज को कानपुर रेफर कर दिया गया था.

लखनऊ: 72 साल की धाकड़ दादी ने चोरों की कर दी छुट्टी, फैन बने DGP

अधीक्षक ने सीएमओ से की शिकायत

सीएचसी अधीक्षक डॉ. कैलाश चंद्रा ने सीएमओ से मामले की शिकायत की है. उन्होंने बताया कि सीएमओ को पत्र लिखकर घटना की जानकारी दी गई है. साथ ही सीएचसी में तैनात घाटमपुर लोकल के एंबुलेंस चालकों को हटाने की बात कही गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें