कानपुर की घाटमपुर सीट से विधायक व कैबिनेट मंत्री कमल रानी का कोरोना से निधन

Smart News Team, Last updated: 05/08/2020 07:35 PM IST
  • लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण से पूरा देश चिंतित है। वहीं रविवार की सुबह इसी संक्रमण ने उत्तर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण की जान ले ली। मौत की खबर पाते ही पार्टी कार्यकर्ताओं में शोक की लहर दौड़ गई और वह लखनऊ की ओर रवाना हो गए।
कैबिनेट मंत्री कमल रानी - फोटो

लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण से पूरा देश चिंतित है। वहीं रविवार की सुबह इसी संक्रमण ने उत्तर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण की जान ले ली। मौत की खबर पाते ही पार्टी कार्यकर्ताओं में शोक की लहर दौड़ गई और वह लखनऊ की ओर रवाना हो गए।

उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे कमल रानी वरुण का रविवार की सुबह कोरोना संक्रमण होने के चलते निधन हो गया। उनके निधन की खबर पाते ही सरकार में हड़कंप मच गया और सरकार के कई मंत्री व नेता उनके आवास की ओर रवाना हो गए।

बताते चलें कि बीती 17 जुलाई को कमल रानी वरुण की अचानक तबीयत खराब हो गई थी जिसके बाद उन्होंने अस्पताल में पहुंचकर अपनी कोरोना संक्रमण की जांच कराई। जिसकी रिपोर्ट 18 जुलाई को आई और वह संक्रमित पाई गई। इस पर उन्हें लखनऊ के पीजीआई में भर्ती करा दिया गया। जहां पर उनका उपचार शुरू किया गया। एक अगस्त को अस्पताल में अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई और रविवार की सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया। जैसे ही यह जानकारी प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ को हुई इस पर उन्होंने शोक व्यक्त किया।

बताते चलें कि कमलरानी का जन्म 3 मई 1958 को लखनऊ में हुआ था। 25 मई 1975 को उनकी शादी एलआईसी के प्रशासनिक अधिकारी किशनलाल वरुण से हुई थी। कमलरानी ने 1977 से राजनीति की शुरुआत की। 1989 में वह भाजपा के टिकट पर कानपुर के द्वारिकापुरी वार्ड से चुनाव लड़कर विजयी हुईं। वर्ष 1996 में दोबारा इसी सीट से पार्षद चुनी गई। इसी बीच कमलारानी के पति का निधन हो गया। उसके बाद से वह एक बार फिर से घाटमपुर की राजनीति में सक्रिय हुईं। वर्ष 2017 में कमलरानी घाटमपुर सीट से विधायक बनकर पार्टी में अपना रुतबा बढ़ा लिया। बीते वर्ष अगस्त माह में उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाकर प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा का कार्यभार दिया गया।

कमल रानी वरुण की मौत की खबर पाते ही प्रदेश सरकार के कई नेता व मंत्री उनके आवास की ओर रवाना हो गए। बताया जाता है कि रविवार की देर शाम उनका कानपुर स्थित अपने आवास के समीप अंतिम संस्कार किया जाएगा।

 

अन्य खबरें