क्लैट पीजी परीक्षा 2020 में ऑल इंडिया टॉपर बनी कानपुर की बेटी कौमुदी उमराव

Smart News Team, Last updated: 06/10/2020 11:11 PM IST
  • कानपुर की कौमुदी उमराव ने क्लैट (कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट) पीजी -2020 में देश टॉप किया है. कौमुदी की आल इंडिया पहली रैंक आई है.
कानपुर की बेटी कौमुदी ने क्लैट पीजी परीक्षा में किया देश टॉप

कानपुर. कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट ( क्लैट ) पीजी 2020 परीक्षा में कानपुर की बेटी कौमुदी ने पूरा देश टॉप किया है. परीक्षा के नतीजों में कौमुदी को ऑल इंडिया की पहली रैंक मिली है. इस परीक्षा में पूरे देशभर से करीब 8 हजार से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल हुए थे. क्लैट पीजी परीक्षा के आधार पर ही अधिकतर टॉप रैंकर्स को पीएसयू (पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग) कंपनी इंटरव्यू के जरिए अच्छे पैकेज पर जॉब ऑफर करती है. वहीं अन्य सफल छात्र एलएलएम के लिए आवेदन करते ही हैं.

मालूम हो कि परीक्षा में कानपुर का नाम रोशन करने वाली किदवई नगर निवासी कौमुदी उमराव के पिता सुरेंद्र उमराव भी पेशे से वकील हैं जबकि उनकी मां हाउस वाइफ हैं. कौमुदी ने डॉ. वीरेंद्र स्वरूप एजुकेशन सेंटर से 10वीं और 12वीं पास की है. उन्होंने साल 2015 में क्लैट यूजी क्वालीफाई किया और लखनऊ की डॉ. राम मनोहर लोहिया नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेकर बीए-एलएलबी की पढ़ाई की.

कानपुर: वायु प्रदूषण रोकने के लिए बनेगा व्हाट्सऐप ग्रुप, विशेषज्ञ ‌होंगे शामिल

टॉपर कौमुदी का कहना है कि पिता के आदर्शों पर ही उन्हें आगे बढ़ना है और यह सोचकर बीए-एलएलबी में मन लगाकर पढ़ाई की और हमेशा अव्वल रहीं. कौमुदी ने हॉस्टल में रहते हुए ही क्लैट-पीजी का आवेदन किया और कड़ी मेहनत के बाद आल इंडिया पहली रैंक हासिल की.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें