IIT कानपुर बना रहा स्पेशल रोबोट, शरीर में जाकर बीमारी का लगाएगा पता

Anurag Gupta1, Last updated: Wed, 6th Oct 2021, 12:38 PM IST
  • कानपुर आईआईटी तैयार कर रहा माइक्रो रोबोट जो शरीर के अंदर जाकर पता लगाएगा रोग. रोबोट शरीर के अंदर कोशिका, धमनी, दिल, गुर्दा व नसों में जाकर न सिर्फ बीमारी का पता लगाएगा बल्कि सही स्थान पर दवा पहुंचा सकेगा. इस माइक्रो रोबोट के माध्यम से सर्जरी से भी निजात मिल सकेगा.
आईआईटी कानपुर (फाइल फोटो)

कानपुर. इस बदलते युग में सब चीज रोबोटिक होती जा रही है. ऐसे में आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिक ऐसा रोबोट तैयार करने की शोध कर रहे जो शरीर के अंदर जाकर न सिर्फ बीमारी का पता लगाएगा बल्कि इलाज भी करेगा. ये रोबोट शरीर के अंदर कोशिका, धमनी, दिल, गुर्दा व नसों में जाकर न सिर्फ बीमारी का पता लगाएगा बल्कि सही स्थान पर दवा पहुंचा सकेगा. इससे मरीजों को जल्द लाभ मिलेगा और मरीजों को सर्जरी से भी निजात दिलाया जा सकेगा. जहां रोगग्रस्त अंग की स्थिति अधिक नाजुक होगी वहीं पर सर्जरी का विकल्प इस्तेमाल किया जाएगा. 

कानपुर आईआईटी के मैकेनिकल इंजीरियरिंग विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. बिशाख भट्टाचार्य के नेतृत्व में टीम माइक्रो रोबोट बनाने पर काम कर रही है. इस काम को जर्मनी के इंस्टीट्यूट फॉर इंटेलीजेंस सिस्टम के विशेषज्ञों के साथ मिलकर पूरा किया जा रहा है. वैज्ञानिकों की टीम शोध करने के साथ रोबोट विकसित करने में जुटी है. उम्मीद जताई जा रही है कि माइक्रो रोबोट अगले साल तक तैयार हो जाएगा. इसके बाद परीक्षण किया जाएगा. माना जा रहा है कि अगर इसका सफल परीक्षण हो जाता है तो सर्जरी से होने वाली दिक्कतों से निजात मिलने की उम्मीद है.

कानपुर: नवरात्र को लेकर बाजार में दिखी रौनक, देवी मां की पूजा की तैयारियां तेज

कैसे काम करेगा माइक्रो रोबोट:

आर्टिफिशयल इंटेलीजेंस, मशीन लर्निंग और मैथमेटिकल मॉडलिंग के माध्यम से ट्रेंड किया जाएगा. इसके माध्यम से माइक्रो रोबोट शरीर के अंदर जाकर कोशिका, धमनी या नसों में जाकर ऑक्सीजन का स्तर, रक्त की गुणवत्ता, ब्लट प्रेशर, रोग प्रतिरोधक क्षमता, प्रोटीन व अन्य समस्याओं की रिपोर्ट सीधे कंम्यूटर पर भेज सकेगा. इस माइक्रो रोबोट के आने के बाद शुरूआती दौर में होने वाली सर्जरी से बचाया जा सकेगा. ये माइक्रो रोबोट शरीर के अंदर जाकर मर्ज का पता लगा सकेगा. यह अपने आप निर्णय ले सकेगा. इस माइक्रो रोबोट को शरीर से आसानी से बाहर निकाला जा सकेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें