कानपुर: बिकरु कांड 50 हजार के इनामिया को सरेंडर से पहले पुलिस ने दबोचा

Smart News Team, Last updated: 16/08/2020 12:08 PM IST
  • कानपुर देहात क्षेत्र के सबसे चर्चित कांड बिकरु के एक और अपराधी को सरेंडर से पहले पुलिस ने दबोचा. विकरु कांड में राजेंद्र मिश्रा नामक एक अपराधी पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम भी घोषित किया था. जिसको शनिवार को पुलिस ने धर दबोचा.
राजेंद्र मिश्रा (बिकरु कांड अपराधी)

कानपुर देहात क्षेत्र के सबसे चर्चित कांड विकरु के एक और अपराधी  को पुलिस ने धर दबोचा. ज्ञात हो कि दो/तीन जुलाई की रात बिकरु गांव में दबिश देने गई पुलिस की टीम पर विकास दुबे और उसके साथियों ने हमला करते हुए उनके 8 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था. इस घटना को अंजाम देने के बाद विकास दुबे और उसके साथी फरार हो गए. पुलिस द्वारा काफी खोजबीन की गई. इस दौरान विकास दुबे के कई साथी पुलिस द्वारा मुठभेड़ में मार गिराए गए.

इसकी जानकारी होते ही विकास दुबे भी शायद कांपने लगा होगा. पुलिस ने ऑपरेशन चलाकर विकास दुबे को उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया था. जिसके बाद कानपुर लाते समय उसने पुलिस कस्टडी से भागने का प्रयास किया और पुलिस द्वारा उसे रोकने पर उसने उन्हीं की पिस्टल से पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर दी. पुलिस ने आत्म रक्षा के लिए कई गोलियां चलाई जिससे विकास दुबे मुठभेड़ में ढ़ेर हो गया. विकास दुबे की मौत की खबर की मिलते ही उसके फरार साथियों में भय का माहौल बन गया और उसके बाद से इन लोगों ने खुद को पुलिस के हवाले करने से पहले पुलिस ने धर दबोचा.

बिकरू कांड में विकास दुबे के साथ रहा राजेंद्र मिश्रा भी तीन जुलाई से ही फरार चल रहा था. जिसने शनिवार को पुलिस ने पकड़ लिया. राजेंद्र मिश्रा ने बताया विकास दुबे बहुत ही दबंग किस्म का व्यक्ति था और उसके आगे किसी की नहीं चलती थी. वह जो चाहता था वहीं करता था. पुलिस ने राजेंद्र के ऊपर 50 हज़ार रुपये का इनाम घोषित किया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें