जितेंद्र मौत केस: पोर्टमार्टम रिपोर्ट में नहीं हुए मौत के कारणों की पुष्टि, मामला उलझा

Haimendra Singh, Last updated: Wed, 17th Nov 2021, 12:10 PM IST
  • कानपुर के चर्चित मामले जितेंद्र मौत के मामले पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है. रिपोर्ट में यह स्पष्ट नहीं हुआ कि जितेंद्र की मौत किस वजह से हुई. वहीं जितेंद्र के बाद से परिवार पुलिस पर मारपीट करने के गंभीर आरोप लगा रहा है.
पोर्टमार्टम रिपोर्ट में नहीं हुआ जितेंद्र की मौत का खुलासा.( सांकेतिक फोटो)

कानपुर. कानपुर के जितेंद्र उर्फ कल्लू की मौत का मामला उलझता ही जा रहा है. मंगलवार को आई पोर्टमार्टम रिपोर्ट में कल्लू की मौत के कारणों की पुष्टि नहीं हो सकी. पीठ पर बने निशाने का पोर्टमार्टम करने वाली डॉक्टरो की टीम कोई स्पष्ट जवाब नहीं दे पाई. वही पुलिस पोर्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर दावा कर रही है कि कल्लू की मौत किसी बिमारी के कारण हुई है. वहीं पुलिस का कहना है कि शव को ज्यादा देर तक रखने पर ही पीठ पर निशान बने है. परिवार ने आरोप लगाया था कि 14 नवंबर को पुलिस हिरासत में कल्लू का पीटा गया, 16 नवबंर को हालत बिगड़ने पर अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई.

कानपुर आईआईटी सोसायटी माधवपुरम चालीस मडैया निवासी गोमती देवी ने बताया कि उनकी बस्ती से सटी पॉश कॉलोनी में रहने वाला एक शख्स बहू-बेटियों को छत से नहाते हुए देखता था. बेटे जितेंद्र उर्फ कल्लू (35) ने इस बात का विरोध किया था. परिवार का आरोप था कि कल्लू को झूठे चोरी के मुकदमे में उनके बेटे को फंसा दिया. कल्याणपुर थाने की पुलिस ने 14 नवंबर को उनके बेटे कल्लू को हिरासत में लिया, जहां उसकी पिटाई की गई. सोमवार को पुलिस ने उसे छोड़ दिया. मंगलवार सुबह हालत बिगड़ने पर परिवार उससे अस्पताल लेकर जाने लगा, जहां रास्ते में उसकी मौत हो गई. मंगलवार की शाम को घाटमरुक सीएचसी के डॉ. जयप्रकाश व कांशीराम ट्रामा सेंटर के डॉ. एसपी कटियार के पैनल ने शव का पोस्टमार्टम किया गया. पोर्टमार्टम रिपोर्ट में मौत के कारण साफ नहीं हो सका.

Viral Video: जेल गए आरोपी से चकेरी इंस्पेक्टर ने बनाए मधुर संबंध वीडियो वायरल

दस अलग-अलग लैव में भेजे जाएंगे सैंपल

पोर्टमार्टम के बाद किडनी, हार्ट, फेफड़े, तिल्ली, छोटी आंत, शरीर में द्रव को सुरक्षित किया गया है. इन सभी सैम्पल को लखनऊ स्थित फोरेंसिक लैब में परीक्षण के लिए भेजा जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें