लव जिहाद: धर्म परिवर्तन से शादी- निकाह में PFI, IS, पाकिस्तान एंगल की SIT जांच

Smart News Team, Last updated: 01/09/2020 08:31 PM IST
  • कानपुर इलाके में धर्म परिवर्तन करके शादी और निकाह के मामलों में अब पुलिस को एक पैटर्न दिख रहा है और उसे शक हो रहा है कि टेरर फंडिंग से जुड़े लोग या संगठन लड़कियों का इस्तेमाल स्लीपर मॉड्यूल की तरह तो नहीं कर रहे हैं. आईजी मोहित अग्रवाल ने शक को दूर करने के लिए एसआईटी जांच का आदेश दिया है.
लव जिहाद भारत में एक प्रचलित शब्द है जिसे धर्म परिवर्तन कराकर शादी करने वालों के लिए इस्तेमाल किया जाता है. 

कानपुर. लह जिहाद के खिलाफ विश्व हिंदू परिषद के प्रदर्शन के बाद कानपुर पुलिस के आईजी मोहित अग्रवाल ने धर्म परिवर्तन कराकर लड़कियों से शादी और निकाह के मामलों में पाकिस्तान, पीएफआई, आईएस जैसे एंगल की एसआईटी जांच का आदेश दिया है. रेंज आईजी अग्रवाल ने कानपुर एसपी साउथ के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया है जिसे जांच के लिए टू द प्वाइंट ब्रीफ दिया गया है जिससे ये पता चले कि कानपुर इलाके में हाल में जो धर्म परिवर्तन के बाद शादी या निकाह के मामले हुए हैं उसमें कोई स्लीपर मॉड्यूल तो नहीं काम कर रहा है.

आईजी मोहित अग्रवाल को ये शक है कि गैर धर्म में शादी कर रही युवतियां स्लीपिंग मॉड्यूल की तरह इस्तेमाल की जा रही हो सकती हैं. कानपुर में इस तरह के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. पुलिस अधिकारी ने कहा है कि युवतियों के जबरन धर्म परिवर्तन की शिकायत परिजनों द्वारा की गई है.

कानपुर में जबरन धर्म परिवर्तन से निकाह, विहिप कार्यकर्ताओं का थाने पर प्रदर्शन

आशंका है कि उनका इस्तेमाल ऐसी सूचना जुटाने में हो रहा हो जिससे देश विरोधी काम में लिप्त संगठनों या लोगों को फायदा पहुंच सकता हो. आईजी अग्रवाल ने कहा कि इस बिन्दु पर अलग से जांच कराई जा रही है. इसके लिए पीड़िताओं और आरोपितों के मोबाइल नंबर, बैंक खातों और सोशल नेटवर्किंग एकाउंट्स को भी खंगाला जा रहा है.

कानपुर आईजी मोहित अग्रवाल (बीच में)

पीएफआई और पाकिस्तान से फंडिंग का पुलिस को है शक

पुलिस सूत्रों ने बताया कि कल्याणपुर, पनकी, जूही और किदवई नगर में इस तरह के मामलों में जो आरोपी बनाए गए हैं, उनके बारे में सूचना है कि वह सभी एक ही मोहल्ले से हैं. ऐसे में इस बात की आशंका है कि ये लोग संगठित गिरोह की तरह काम कर रहे हों. इस बात की भी जांच की जा रही है कि कहीं आरोपियों को पीएफआई, आईएस या फिर पाकिस्तान से कोई फंडिंग तो नहीं हो रही है. 

कानपुर: शालिनी से फातिमा बनी युवती ने वीडियो शेयर कर बताया परिजनों से है खतरा

पुलिस सूत्रों ने बताया कि आरोपियों और उनके करीबियों के बैंक खातों की जांच की जा रही है और उसमें छोटे से छोटे ट्रांजैक्शन कहां से और किसने किए, इसका पता लगाया जा रहा है. आरोपियों की कॉल डीटेल से यह जानकारी भी जुटाई जा रही है कि इनमें कोई पीएफआई या किसी अन्य प्रतिबंधित संगठन के संपर्क में तो नहीं था.

हाईकोर्ट में बड़े वकील खड़े होने से खड़ा हुआ पुलिस का कान

पुलिस सूत्रों ने बताया कि धर्म परिवर्तन से शादी करने वाले मामलों के आरोपियों की माली हालत बहुत अच्छी नहीं है. पुलिस को सूचना मिली है कि आरोपियों ने खराब आर्थिक स्थिति के बावजूद अपने बचाव में हाईकोर्ट में बड़े वकीलों को खड़ा किया है. एसआईटी इस एंगल से भी जांच करेगी कि इनके पास इतना पैसा कहां से आया कि वो बड़े वकीलों की फीस उठा सकें.

प्रेमी ने धर्म परिवर्तन करा किया निकाह, गर्भपात कराकर दिया धोखा,अब मांग रहा दहेज

पनकी पुलिस ने ऐसे ही एक मामले में कुछ दिन पहले मोहम्मद मोहसिन और मोहम्मद आमिर को गिरफ्तार करके जेल भेजा है. आईजी ने बताया कि यह केस भी एसआईटी को ट्रांसफर कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि जिले में इस तरह के जो भी केस दर्ज होंगे, उसकी जांच एसपी साउथ के नेतृत्व वाली एसआईटी ही करेगी. सर्विलांस और एसओजी टीम एसआईटी की जरूरत पर मदद करेगी. आईजी ने कहा कि एसआईटी कानपुर में कहीं भी ऑपरेट कर सकती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें