UPMRC में कानपुर टनल सबसे गहरी, लखनऊ से डेढ़ गुना नीचे दौड़ेगी कानपुर मेट्रो

Anurag Gupta1, Last updated: Tue, 2nd Nov 2021, 12:03 PM IST
  • कानपुर मेट्रो टनल सबसे गहरा होगा. लखनऊ के मुकाबले कानपुर टनल डेढ़ गुना गहरा होगा. लखनऊ में अंडरग्राउंड के लिए जमीन में अधिकतम 15 मीटर नीचे टनल बनाई गई है. कानपुर में कुछ ज्यादा ही गहराई पर सरकारी पेयजल लाइनें हैं. जो सामान्य तौर पर पांच से छह मीटर नीचे रहती हैं वो सात से नौ फीट गहरी है.
कानपुर मेट्रो (फाइल फोटो)

कानपुर. कानपुर मेट्रो का काम रफ्तार पकड़ चुका है. अब कानपुर में अंडरग्राउंड मेट्रो का काम शुरू हो गया है. बताया जा रहा है उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन के अधीन आने वाले शहरों में कानपुर में सबसे नीचे टनल बनाई जाएगी. इसके लिए ढांचागत तैयारी हो चुकी है. लखनऊ में अंडरग्राउंड के लिए जमीन में अधिकतम 15 मीटर नीचे टनल बनाई गई है, लेकिन कानपुर में यह गहराई करीब डेढ़ गुना अधिक है.

कानपुर मेट्रो के अंडरग्राउड टनल का काम तीन अलग-अलग चरण में होना हैं. पहला फेज चुन्नीगंज से नयागंज स्टेशन तक, दूसरा फेज नयागंज स्टेशन से शुरू होकर ट्रांसपोर्ट नगर तक है. इसके अलावा दूसरे कारिडोर में सीएसए से डबल पुलिया तक अंडरग्राउंड का काम होना है. कानपुर मेट्रो अधिकारियों के लिए काफी अलग होगी क्यूंकि कानपुर मेट्रो को लखनऊ के मुकाबले ज्यादा गहरा टनल बनाना होगा. कानपुर मेट्रो ट्रेन जमीन के अंदर करीब 22 मीटर नीचे चलेगी. अधिकारियों ने बताया कि यह गहराई अधिकतम होगी. कानपुर टनल चुन्नीगंज से ट्रांसपोर्ट नगर स्टेशन के बीच की सामान्य गहराई 16-17 मीटर की गहराई रहेगी. सबसे ज्यादा गहराई सेंट्रल स्टेशन के पास रहने की उम्मीद है.

Zika Virus in UP: कानपुर में जीका वायरस के 6 और नए मामले, चकेरी इलाके में 645 संदिग्ध

पेयजल लाइन है गहराई की वजह:

लखनऊ मेट्रो के मुकाबले कानपुर मेट्रो की गहराई के पीछे की बड़ी वजह पेयजल लाइन बताई जा रही है. कानपुर में कुछ ज्यादा ही गहराई पर सरकारी पेयजल लाइनें हैं. जो सामान्य तौर पर पांच से छह मीटर नीचे तक पेयजल व सीवर लाइन रहती हैं, लेकिन कानपुर में ये सात से नौ मीटर तक नीचे मिल रही हैं. ये पाइप लाइनें बहुत ज्यादा बड़ी भी है. इस कारण से कानपुर मेट्रो के टनल की गहराई ज्यादा हो रही है.

गहरा टनल की उत्सुकता कानपुर के लोगों के साथ अधिकारियों को भी है कि कैसे इतना गहरा टनल बनेगा. कानपुर के लोग इसी सोच में पड़े है इतनी गहराई से होकर गुजरेगी कानपुर मेट्रो.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें