कानपुर नगर निगम की नई व्यवस्था, ऐप के जरिए अब खुद भर सकेंगे घर-दुकान का विवरण

Smart News Team, Last updated: Wed, 6th Jan 2021, 8:39 PM IST
  • एप्लिकेशन के जरिए खुद भर सकते हैं, अपने घर या दुकान का विवरण, कानपुर नगर निगम ने भ्रष्टाचार रोकने के लिए घर व संपत्ति के टैक्स का स्वतः निर्धारण और भुगतान के लिए लॉन्च किया एप्लिकेशन, अब ऑनलाइन कर सकेंगे घर और संपत्तियों का टैक्स जमा.
कानपुर नगर निगम की नई व्यवस्था, ऐप के जरिए अब खुद भर सकेंगे घर-दुकान का विवरण

कानपुर: अब आप अपने घर या संपत्ति का खुद ही मुआयना कर के ऑनलाइन टैक्स भर सकते हैं. इसके लिए कानपुर नगर निगम ने स्मार्ट सिटी की मदद से अप्लीकेशन तैयार कर लिया है. इसके जरिए घर बैठे आप सारे विवरण भर सकते हैं. हाउस टैक्स बिल को लेकर हो रहे लगातार विवादों और भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी ने यह कवायद की है. 

अभी तक घर और संपत्तियों के टैक्स के निर्धारण का कार्य मैनुअल किया जाता था जो आसान और पारदर्शी नहीं था. अब वर्ष 2001 में तय किए गए हाउस टैक्स को भी ऑनलाइन कर दिया गया है. हाउस टैक्स की कोडिंग का काम पूरा किया जा चुका है. अब अगले कुछ दिनों में नए अप्लीकेशन का ट्रायल शुरू कर दिया जाएगा. इससे लाखों लोगों को फायदा होगा.

कानपुर से प्रदेश को मिलेगी 225 मेगावॉट बिजली, बिल्हौर में बनकर तैयार हुआ प्लांट

ऑनलाइन फार्म भरना भी होगा सरल

घर और संपत्तियों के टैक्स निर्धारण के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरना भी बेहद सरल होगा. अभी तक लोगों को रजिस्ट्री में दर्ज भूखंड के क्षेत्रफल के साथ ही मकान या दुकान का विवरण भरना होता था. इसके बाद संबंधित क्षेत्र के राजस्व निरीक्षक द्वारा हाउस टैक्स का निर्धारण किया जाता था. अब राजस्व निरीक्षक की भूमिका ऑनलाइन फॉर्म में नहीं होगी. जैसे ही विवरण भरकर अप्लीकेशन पर सबमिट करेंगे वैसे ही हाउस टैक्स का निर्धारण शुरू हो जाएगा.

एडीएम कोर्ट में हथियार सत्यापन दौरान चली गोली सीने में धंसी, मोबाइल ने बचाई जान

गलत जानकारी भरने पर 1 हजार का जुर्माना

आप गलत जानकारी न दें इसके लिए भी नगर निगम ने व्यवस्था की है. अगर आपने भूखंड का क्षेत्रफल या भवन का चौहदी एरिया छिपाकर गलत विवरण दिया तो एक हजार रुपए जुर्माने का भी प्रावधान किया गया है. इस अप्लीकेशन का एक बड़ा फायदा यह भी होगा कि आपको नगर निगम के जोनल दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे. आपसे किसी बिल को लेकर उत्पीड़न नहीं होगा. भ्रष्टाचार और हाउस टैक्स को अधिक या कम करने के खेल पर भी अंकुश लग जाएगा.

लखनऊ : यूपी में बनेगा किराया प्राधिकरण, सरकार ला रही किराएदारी कानून

कमांड कंट्रोल से पहुंचेगी कॉल, आएगा एसएमएस

आपकी मदद के लिए स्मार्ट सिटी के कमांड कंट्रोल से कॉल की जाएगी. आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस पहुंचेगा. इसमें अप्लीकेशन का लिंक भी दिया गया होगा. खास बात यह है कि नगर निगम ने इस काम के लिए वीडीएआई बॉयोटेक कंपनी को नियुक्त किया है. इस कंपनी ने एक माह में 15 हजार लोगों को कॉल करके यह जानने की कोशिश की कि क्या वह हाउस टैक्स के बकाए के बारे में जानते हैं, तो 7100 लोगों ने इससे इन्कार किया. यह लोग ऐसे थे जिनकी संपत्ति का बकाया टैक्स 10 हजार रुपए से ज्यादा था.

रणजी ट्रॉफी: 30 संभावित खिलाड़ियों में लखनऊ के 3 खिलाड़ी

365534 आवासीय संपत्तियां हैं हाउस टैक्स के दायरे में

63023 अनावासीय संपत्तियां हैं हाउस टैक्स के दायरे में

114578 संपत्ति अकेले जोन दो की हैं जो सबसे ज्यादा

हाउस टैक्स का अलर्ट चाहिए तो यहां जाएं

www.kmc.up.nic.in

या सर्च करें kanpur municipal corporation

नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी ने बताया की हाउस टैक्स के स्व निर्धारण के लिए अप्लीकेशन तैयार कर लिया गया है. अब जल्द ही इसका ट्रायल शुरू किया जाएगा. इससे लोगों को बड़ी राहत मिलेगी. विवाद की नौबत जल्दी नहीं आएगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें