श्रीराम चौक नाम का बैनर हटाने पर बवाल, बजरंग दल कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज, तनाव

Smart News Team, Last updated: 02/12/2020 06:32 PM IST
  • निजाम चौक से श्रीराम चौक नाम का बैनर हटाने पर कानपुर में नगर आयुक्त के घर जबरन घुसने की कोशिश कर रहे बजरंग दल के कार्यकर्ताओं पर नगर निगम की प्रवर्तन टीम ने लाठीचार्ज किया. जिससे तनाव और बढ़ गया. भाजपा नेताओं के समझाने पर मामला शांत हुआ.
कानपुर नगर निगम आयुक्त के घर घुस रहे बजरंग दल के कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज हुआ. प्रतीकात्मक तस्वीर

कानपुर. निजाम चौक से श्रीराम चौक नाम का बैनर हटाने पर कानपुर में नगर आयुक्त के घर जबरदस्ती कर रहे बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को नगर निगम इंक्रोचमेंट टास्क फोर्स के जवानों ने खदेड़ा. बजरंग दल के कार्यकर्ता निजाम चौक को श्रीराम चौक करने की मांग कर रहे हैं. जब नगर आयुक्त अक्षय सिन्हा वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग कर रहे थे तभी बजरंग दल के कार्यकर्ता ज्ञापन देने के लिए पहुंचे. बवाल करने पर कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज हुआ हालांकि बजरंग दल ने अपर नगर आयुक्त को ज्ञापन सौंप दिया है.

इस मामले को लेकर बजरंग दल के जिला संयोजक कृष्णा तिवारी ने कहा कि हम ज्ञापन देने गए थे. निजाम चौक को श्रीराम करने की मांग थी. कुछ पदाधिकारियों को नगर आयुक्त के बंगले के भीतर करके बाहर खड़े कार्यकर्ताआं पर लाठियां बरसाई गई हैं. प्रवर्तन दल को ऐसा करने का अधिकार नहीं है. अपर नगर आयुक्त के आदेश पर ये हुआ है. हम थाने में तहरीर लेकर रिपोर्ट दर्ज कराएंगे.

कानपुर: महिला ने पति की दूसरी शादी रुकवाई, दहेज के लालच में पहली पत्नी को छोड़ा

कानपुर के यशोदा नगर में निजाम चौक है. इसके नाम बदलने को लेकर बजरंग दल काफी समय से मांग कर रहा है. बजरंग दल का मानना कि कि अब धनुष-वाण की प्रतिमा लग गई है इसलिए इसे श्रीराम चौक कर देना चाहिए. इसको लेकर अफसरों ने कहा था कि नगर निगम की कार्यकारिणी बैठक में इस प्रस्ताव को रखा जाएगा. इसी बजरंग दल ने निजाम चौक पर श्रीराम चौक का बैनर लगा दिया. जिसे नगर निगम ने हटा दिया.

कानपुर बिकरू कांड: एसआईटी ने जांच रिपोर्ट यूपी सरकार को सौंपी

जिसके बाद बजरंग दल के कार्यकर्ता नगर निगम कार्यालय पहुंचे. जब नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी वहां नहीं मिले तो उनके बगले पर भी पहुंच गए. उस समय नगर आयुक्त वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग में थे. बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने नगर आयुक्त से मिलने की बात कही लेकिन जब गेट नहीं खुला तो कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे. जिसके बाद ज्ञापन के लिए कुछ लोगों के लिए अंदर बुला लिया गया. 

कानपुर के कार एक्सेसरीज गोदाम में लगी आग, लाखों का सामान जलकर खाक

इसी बीच जब कार्यकर्ता दीवार फांदने लगे तो प्रवर्तन टीम ने मौके पर पहुंचकर लाठीचार्ज किया. जिससे माहौल और खराब हो गया. पार्षद प्रशांत शुक्ला ने बजरंग दल के नेताओं को समझाने की कोशिश लेकिन वे नहीं माने. जब भाजपा पार्षद यशपाल सिंह और सौरव ने कार्यकर्ताओं को समझाया तब मामला शांत हुआ.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें