कानपुर मर्डर: बैंककर्मी को बहन संग देख भाई ने मारा था, प्रेमिका ने साफ किया था फर्श से खून

Swati Gautam, Last updated: Thu, 16th Sep 2021, 4:18 PM IST
  • कानपुर में 10 सितंबर को मिली बैंक कर्मी विशाल अग्रवाल की लाश के हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने कर दिया है. हत्या के पीछे मृतक की प्रेमिका समेत दो लोग थे. जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. चचेरी बहन के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देख भाई ने लोहे के हथियार से वार किया था  प्रेमिका ने प्रेमी की हत्या के बाद फ्लैट पर फैले खून को धोया था.
कानपुर मर्डर: बैंककर्मी को बहन संग देख भाई ने मारा था, प्रेमिका ने साफ किया था फर्श से खून (फाइल फोटो)

कानपुर. कानपुर में 10 सितंबर को मिली बैंक कर्मी विशाल अग्रवाल की लाश के बाद से पुलिस लगातार जांच पड़ताल में लगी हुई थी. यूपी पुलिस ने इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया है. पुलिस की जांच के अनुसार मृतक की हत्या के पीछे उसकी प्रेमिका समेत तीन आरोपी शामिल थे. आरोपियों का पता चलते ही पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तारी को बाद मृतक की प्रेमिका से पूछताछ की गई तो कई चौंकाने वाले मामले सामने आए जिसे सुनकर पुलिसकर्मियों के हैरान हो गई. युवती ने बताया कि उसने ही अपने प्रेमी की हत्या के बाद फैले खुन को धोया था.

मामला दरअसल 10 सितंबर का है जहां पुलिस को सूचना मिलने पर उन्नाव के दही थाना क्षेत्र में शारदा नहर के पास एक केमिकल ड्रम में एक लाश मिली थी. लाश की पहचान 26 वर्षीय बैंक कर्मी विशाल अग्रवाल के रूप में हुई. पूछताछ में विशाल की प्रेमिका ने पुलिस को बताया कि उसकी हत्या फीलखाना स्थित एक फ्लैट में की गई थी जहां वह अभी एक विशाल की सहकर्मी के साथ रहती है. दरअसल विशाल बगल वाले फ्लैट में सत्यम नाम का शख्स था जिसकी नाबालिग चचेरी बहन वहां आती रहती थी. विशाल और नाबालिग की बातचीत होने लगी थी. 10 सितंबर को सत्यम अपने घर पहुंचा तो पाया कि वहां उसकी चचेरी बहन और विशाल आपत्तिजनक हालत में थे.

कानपुर: 3 दोस्तों के साथ आया घर में चोरी करने, नींद आई तो AC चलाकर सो गया फिर सुबह...

विशाल को अपनी चचेरी बहन के साथ देख सत्यम ने लोहे के सरिया से ताबड़तोड़ वार कर विशाल की हत्या कर दी. जिसके बाद उन्नाव निवासी दोस्त ने शव को ठिकाने लगवाया और विशाल की प्रेमिका ने फ्लैट में फैले खून को पानी से धोया था. विशाल के शव को सत्यम और उसका दोस्त केमिकल ड्रम में भर कर ले गए थे और शारदा नहर पर फेंक दिया था. पुलिस को आरोपियों के साक्ष्य मिले तो सभी की गिरफ्तारी हुई. पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने शारदा नहर में ही विशाल का मोबाइल फेंक दिया था. सत्यम ने खून से सने अपने कपड़े व विशाल का पर्स नगर निगम की कूड़ा गाड़ी में फेंका था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें