इंसानियत की मिसाल, कानपुर आउटर SP ने उठाया नेत्रहीन पिता की बेटी की पढ़ाई का जिम्मा

Somya Sri, Last updated: Sun, 12th Dec 2021, 1:58 PM IST
  • कानपुर आउटर एसपी अजीत सिन्हा ने इंसानियत की मिसाल पेश की है. घाटमपुर तहसील क्षेत्र के तारापुर निवासी दृष्टि दिव्यांग मुन्ना सिंह को आश्वासन दिया है कि वह उनकी बेटी का फीस भरेंगे. उन्होंने कहा है कि अब वह फिक्र ना करें क्योंकि खराब आर्थिक स्थिति को लेकर उनकी बेटी की पढ़ाई अब नहीं रुकेगी. एसपी अमित सिन्हा ने इंटर की छात्रा की पढ़ाई की जिम्मेदारी ली है.
इंसानियत की मिसाल, कानपुर आउटर SP ने उठाया नेत्रहीन पिता की बेटी की पढ़ाई का जिम्मा (फोटो साभार- लाइव हिंदुस्तान)

कानपुर: कानपुर आउटर एसपी अजीत सिन्हा ने इंसानियत की मिसाल पेश की है. उन्होंने एक नेत्रहीन पिता की बेटी को आश्वासन दिया है कि अब वह फिक्र ना करें क्योंकि उसकी बेटी की पढ़ाई की जिम्मेदारी अब उन्होंने ले ली है. बता दें कि कानपुर के घाटमपुर में अपने नेत्रहीन पिता के साथ इंटर की एक छात्रा थाने पहुंची थी. छात्रा पूनम जमीन पर हो रहे अवैध कब्जे की शिकायत लेकर थाने पहुंची थी. जहां उसकी शिकायत सुनकर एसपी आउटर अजीत सिन्हा को दुख हुआ और उन्होंने आश्वासन दिया कि अब वो बेटी की पढ़ाई की पूरी जिम्मेदारी उठाएंगे.

जानकारी के मुताबिक छात्रा पूनम ने एसपी आउटर अजीत सिन्हा को अपनी पढ़ाई में आ रही समस्याएं भी बताई थी. उसने बताया कि फीस नहीं देने के कारण उसकी पढ़ाई रुक रही है. साथ ही उसने यह भी बताया कि उसके घर के पास मौजूद उसके जमीन पर लोग अवैध कब्जा कर रहे हैं. उसने बताया कि उसके पिता नेत्रहीन है. इसका फायदा गांव वाले उठा रहे हैं.

IIT से गीता नगर तक कानपुर मेट्रो में सफर करेंगे PM मोदी, पढ़ें पूरा कार्यक्रम

जानकारी के मुताबिक घाटमपुर तहसील क्षेत्र के तारापुर निवासी दृष्टि दिव्यांग मुन्ना सिंह के घर के पास की जमीन पर कुछ लोग जानवर बांधते हैं. जिसकी शिकायत लेकर मुन्ना सिंह अपनी बेटी के साथ थाने पहुंचे. जहां उन्होंने बताया कि जब वो जमीन पर अवैध कब्जे को लेकर विरोध करते हैं तो पड़ोसी उनके साथ अभद्रता करते हैं एसपी झोपड़ित पतासे एसपी आउटर ने छात्रा की पढ़ाई के बारे में पूछा तो यह सुनकर छात्रा पूनम भावुक हो गई फिर उसने घर की आर्थिक स्थिति के बारे में एसपी आर्डर को सब कुछ बता दिया

इधर एसपी आउटर ने छात्रा की बात सुनकर आश्वासन दिया है कि उसकी पढ़ाई अब नहीं रुकेगी. उसकी बकाया फीस वो खुद भर देंगे. यह सुनकर छात्रा खुश है. एसपी आउटर अजीत सिन्हा ने एसआई सुनीता यादव को छात्रा के कॉलेज जाकर उसकी बकाए फीस की जानकारी लेने को भी कहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें