कानपुर में दोगुने हुए ऑक्सीजन सिलेंडर के दाम, चार गुना बढ़ी खपत

Smart News Team, Last updated: 14/09/2020 09:14 PM IST
कानपुर में ऑक्सीजन गैस सिलेंडर के दामों में दुगुनी वृद्धि देखने को मिल रही है.इसके साथ ही कोरोना का से पहले प्रतिदिन 2 कंटेनर लिक्विड ऑक्सीजन की खपत होती थी जो अब बढ़कर 4 से 5 कंटेनर हो गई है.हालांकि सरकारी अस्पतालों में इसके दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है.
कानपुर में ऑक्सीजन सिलेंडर के दामों में वृद्धि हो गई है.

कानपुर. शहर में ऑक्सीजन सिलेंडर के दाम दोगुना हो गए हैं. इसके साथ ही गैस की मांग भी बढ़ गई है. जानकारी के मुताबिक ऑक्सीजन की मांग में चार गुणा इजाफा हुआ है जबकि अब तक इसके दाम में दोगुना बढ़ोतरी देखी जा रही है.

आपको बता दें कि पहले किराये-भाड़े समेत 22 रुपए क्यूबिक मीटर लिक्विड ऑक्सीजन गैस मिलती थी लेकिन अब ट्रेडरों ने इसके दाम 45 रुपए क्यूबिक मीटर तक कर दिया है.अगर खपत की बात करें तो इससे पहले शहर में प्रतिदिन 2 कंटेनर लिक्विड ऑक्सीजन की खपत होती थी जो अब बढ़कर 4 से 5 कंटेनर हो गई है. इसके साथ ही कोरोना के संक्रमण से पहले 2500 सिलेण्डर की मांग होती थी लेकिन अब यह बढ़कर 10 हजार सिलेंडर तक पहुंच गई है.

कानपुर में बेरोजगारी और बेहाल किसानों के मुद्दे पर सपाइयों का विरोध प्रदर्शन

इसके अलावा छोटे और बड़े ऑक्सीजन सिलेंडर में भी ऐसी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. 1.5 क्यूबिक मीटर का छोटा सिलेण्डर जो पहले 80 से 100 रुपए में मरीजों को मिल रहा था अब उसका रेट बढ़कर 150 से 160 रुपए हो गया है. 7 क्यूबिक मीटर का बड़ सिलेण्डर जो पहले 200-250 रुपए का था लेकिन अब 450 रुपए में हॉस्पिटलों को मिल रहा है. हालांकि सरकारी अस्पतालों में पहले से तय रेट पर सप्लाई की जा रही है वहां अभी इसकी कोई किल्लत नहीं देखी गई है.

कानपुर: मारपीट कर एंकर का किया अपहरण, लूटकर दी ये धमकी

मुरारी मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट के एमडी अजय मिश्र और पनकी मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट के एमडी धीरज बिरयानी ने बताया कि जमशेदपुर, देहरादून, रूडकी, सोलन, पानीपत, बिवाड़ी, काशीपुर के प्लांट से अभी लिक्विड ऑक्सीजन के रेट नहीं बढ़े हैं. लेकिन कानपुर और लखनऊ समेत कई शहरों में मांग अधिक होने के कारण इनके रेट में वृद्धि हुई है.

पुलिस वाले हुए कोरोना संक्रमित तो बदमाशों का मचा आतंक, दिनभर में 5 को लूटा

वहीं औषधि निरीक्षक संदेश मौर्या का कहना है कि अभी ऑक्सीजन की कालाबाजारी की शिकायत नहीं मिली है लेकिन मांग चार गुना से ज्यादा बढ़ने से समस्या जरूर आई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें