कानपुर: दरोगा पर युवक की हत्या का आरोप, बचाने में लगा रहा प्रशासनिक महकमा

Smart News Team, Last updated: 02/11/2020 11:41 AM IST
दरोगा प्रेमवीर सिंह यादव पर गैंगस्टर पप्पू की हत्या का आरोप. अपने सरकारी पिस्टल से मारी गोली. कई घंटे तक आरोपी दरोगा को बचाने में लगा रहा प्रशासनिक महकमा. आरोपी दरोगा और सिपाही को किया गया लाइनहाजिर. घाटमपुर कोतवाली की घटना.
(प्रतिकात्मक फोटो)

कानपुर- प्रेमवीर सिंह यादव नामक दरोगा पर सबके सामने युवक की हत्या का आरोप है. लेकिन हैरानी की बात है कि पुलिस उसे बचाने में लगी रही. बताया जा रहा है कि भदरस गांव से लौटे दरोगा और सिपाही सीधे घाटमपुर कोतवाली पहुंचे. कहा जा रहा है कि जुए की फड़ पर हुई घटना से शुक्रवार रात ही इंस्पेक्टर को जानकारी दे दी गई थी. जिसके बाद दोनों को बचाने की जद्दोजहद शुरू हुई. घटना को रफा दफा करने की कोशिश अगले दिन तक जारी रही. गांव का चश्मदीद नहीं आता तो आरोपितों का पता भी नहीं चलता.

कानपुर: पूर्व बीडीसी की गोली मारकर हत्या, प्राथिमक जांच में दरोगा गिरफ्तार

शुक्रवार रात करीब साढ़े 8 बजे भदरस गांव पहुंचे एसआई प्रेमवीर और सिपाही ने जुआ खेल रहे लोगों को ललकारा. पुलिस की चेतावनी के बाद ज्यादातर लोग भाग गए. बताया जा रहा है कि जुआरियों का भाग जाना दरोगा को नागवार गुजरा और पिस्टल से गोली चला दी. शराब के नशे में होने के चलते पप्पू नहीं भाग पाया. जिसके बाद दरोगा ने पिस्टल चला दी.

कानपुर में मिट्टी के ढूहे में दबकर मासूम की मौत, भाई घायल

बताया जा रहा है कि पुलिस ने गोपनीयता बरती और परिजनों की तहरीर के आधार पर 4 लोगों को नामजद कर लिया गया. 2 आरोपियों की गिरफ्तारी भी कर ली गई. एडीजी, डीआईजी, एसपी और ग्रामीणों की सक्रियता के बाद शाम साढ़े 6 बजे के करीब दरोगा और सिपाही दीपांशु को लाइनहाजिर किया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें